अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पटना आयुर्वेदिक कॉलेज नेशनल इंस्टीच्यूट बनेगा : आजाद

पटना आयुर्वेदिक कॉलेज नेशनल इंस्टीच्यूट बनेगा। पटना स्थित केन्द्रीय यूनानी रीजनल रिसर्च सेन्टर को मॉडल इंस्टीच्यूट बनाया जाएगा। केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री गुलाम नबी आजाद ने पटना में बुधवार को ये घोषणाएं की।

वे आयुष मेला के समापन समारोह को संबोधित कर रहे थे। केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रलय के आयुष विभाग और बिहार सरकार सरकार के सहयोग से आयुष (आयुर्वेद, योग व प्राकृतिक चिकित्सा, यूनानी, सिद्ध एवं होमियोपैथी) मेला पिछले पांच दिनों से पटना में चल रहा था।

श्री आजाद ने कहा कि बिहार के हेल्थ सेक्टर के इंफ्रास्ट्रक्चर में बदलाव के लिए केन्द्र हरसंभव सहायता देने को तैयार है। बिहार, उत्तर प्रदेश और पूवरेत्तर के पिछड़े राज्यों में मेडिकल कॉलेज खोलने के लिए केन्द्र सरकार ने भारतीय चिकित्सा परिषद (एमसीआई) के सहयोग से मानकों में ढील दी है।

20 एकड़ जमीन और मात्र 60 फीसदी बेडों के आधार पर ही मेडिकल कॉलेज अब खुले सकेंगे। यही नहीं कॉलेज व अस्पताल भवन, लेबोरेट्री समेत अन्य मानकों में भी कमी की गई है। उन्होंने बताया कि देश के मात्र 15 फीसदी मेडिकल कॉलेज इन क्षेत्रों में हैं। जबकि 25 फीसदी कॉलेज दक्षिण व पश्चिम भारत के छह राज्यों में हैं।

उन्होंने कहा कि नेशनल मिशन ऑफ मेडिसनल प्लांट के तहत दवाओं के शोध पर 650 करोड़ रुपए खर्च किये जाएंगे। इसके लिए 80 हजार हेक्टेयर जमीन में औषधीय शोध और निर्माण की योजना बनायी गई है। इससे देश में दवाओं की कमी दूर की जा सकेगी। देश के दूरदराज क्षेत्र में डाक्टरों की कमी दूर करने के लिए ठेके पर डाक्टरों की बहाली की जा रही है।

उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार के नेतृत्व में बिहार में बदलाव हुआ है पर अभी यूपी और बिहार में काफी बदलाव की जरुरत है। यहां आबादी की तुलना में सुविधाएं काफी कम हैं। ज्यादातर लोग सरकरी सुविधाओं पर निर्भर हैं। प्राइवेट सेक्टर में भी काम नहीं हुआ है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पटना आयुर्वेदिक कॉलेज नेशनल इंस्टीच्यूट बनेगा : आजाद