class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विदेशी छात्र का आरोप, गंदे एसएमएस भेजते हैं प्रोफेसर

‘‘केंद्रीय हिन्दी संस्थान के प्रोफेसर छात्रओं पर गंदी नजर रखते हैं। एक शिक्षक मुङो पिछले करीब दो सप्ताह से अश्लील एसएमएस भेज रहे हैं, जिस कारण मैं बहुत परेशान हूँ। मेरी बात नहीं सुनी जा रही है, मैं अपने दूतावास से शिकायत करूंगी। प्रोफेसर को मैं पिता के समान मानती थी लेकिन उसने अपनी गंदी नजरों से मुङो आहत किया है।’’

यह आरोप है फिजी से हिन्दी सीखने केंद्रीय हिन्दी संस्थान आई हिन्दी शिक्षण विभाग की एक छात्र का। बुधवार को केंद्रीय हिन्दी संस्थान के उपाध्यक्ष बनने के बाद पहली बार आगरा आए अशोक चक्रधर के संबोधन के दौरान फिजी की छात्र ने खड़े होकर यह आरोप प्रोफेसर अरुण चतुर्वेदी पर लगाया।

रोते हुए छात्र ने जब यह कहा तो विदेशी छात्रों ने प्रो. चतुर्वेदी को संस्थान से निकालने के लिए हंगामा शुरू कर दिया। उधर प्रो. चतुर्वेदी गश खाकर गिर गए। सम्मान समारोह के रंग में भंग पड़ गया तथा केंद्रीय हिन्दी संस्थान प्रबंधन ने विदेशी छात्रों से बात कर जाँच कराने का आश्वासन दिया।

छात्र ने अपने आरोप के सुबूत के रूप में कुछ एसएमएस दिखाए, जो प्रो. चतुर्वेदी के फोन से भेजे गए थे। फिजी में रेडियो से जुड़ी इस छात्र का कहना था कि उसे धमकाया जा रहा है। वह इस मामले को फिजी में रेडियो पर प्रसारित करवाएगी तथा अपने दूतावास में शिकायत करेगी।

प्रो. चतुर्वेदी का कहना है कि पिछले दिनों संस्थान का शैक्षिक टूर हरिद्वार गया था। टूर के दौरान छात्र का गतिविधियाँ अच्छी नहीं रहीं, इस कारण उसे अगले टूर के लिए ब्लैकलिस्टेड कर दिया गया है। यही कारण है कि उसने यह आरोप लगाया है।

संस्थान के प्रबंधन ने कहा है कि छात्र के आरोप की जाँच करायी जाएगी। इसके लिए तीन सदस्यीय जाँच समिति का गठन किया गया है। समिति की चेयरमैन प्रो. वशिनी शर्मा तथा सदस्य चीफ वार्डन रामकमल पांडेय व महिला छात्रवास की वार्डन तस्मीन हुसैन हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विदेशी छात्र का आरोप, गंदे एसएमएस भेजते हैं प्रोफेसर