class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राष्ट्रपति का हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त होते-होते बचा

राष्ट्रपति का हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त होते-होते बचा

राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल को लेकर आ रहे भारतीय वायुसेना के एमआई 17 हेलीकाप्टर के बुधवार को भुवनेश्वर हवाईअड्डे पर उतरने के बाद उसका पंखा पार्किंग स्थल की छत से टकरा कर क्षतिग्रस्त हो गया, हालांकि इस घटना में सभी गणमान्य लोग सुरक्षित रहे।

भारतीय वायुसेना ने पाटिल के हेलीकाप्टर के पंखे एसबेस्टस की छत से टकराने की घटना पर कोर्ट आफ एंक्वायरी के आदेश दिए हैं। इस साल हेलीकाप्टर में उड़ान के दौरान पाटिल दूसरी बार चमात्कारिक ढंग से सुरक्षित बच निकलीं।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि हेलीकाप्टर में 75 वर्षीय राष्ट्रपति के साथ उनके पति देवी सिंह शेखावत तथा उड़ीसा के राज्यपाल एमसी भंडारी भी थे। किसी को चोट नहीं आई और वे सुरिक्षत हैं। अधिकारी ने बताया कि दुर्घटना पांच बजे के आसपास तब हुई जब पुरी से आ रहे हेलीकाप्टर के तीन रोटर पंखे खाली पड़े एक एस्बेस्टस शेड से टकरा गए हालांकि उस वक्त मौसम साफ था।

बीजू पटनायक एअरपोर्ट के निदेशक संजय जैन ने बताया कि टकराने के बाद तीनों पंखे मुड़ गए और शेड की छत उखड़ गई। शेड कभी हेंगर होता था और इस समय उसका इस्तेमाल स्टोररूम के रूप में हो रहा था। बहरहाल, भारतीय वायुसेना ने पाटिल के हेलीकाप्टर से जुड़ी घटना पर कोर्ट ऑफ एंक्वायरी के आदेश दिए हैं।

भारतीय वायुसेना के प्रवक्ता विंग कमांडर टीके सिंघा ने कहा कि इस घटना की जांच के लिए कोर्ट आफ एंक्वायरी के आदेश दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि इस घटना के बाद राष्ट्रपति ने अपना अन्य कार्यक्रम सामान्य तरह से पूरा किया। उन्होंने कहा कि प्रतिभा पाटिल, उनके पति देवी सिंह शेखावत और उड़ीसा के राज्यपाल एमसी भंडारी को वीवीआईपी श्रेणी के तहत आईएएफ के तीन एमआई 8 हेलीकाप्टर से छोड़ा गया।

इस साल नौ फरवरी को मुंबई हवाई अड्डे पर पाटिल के हेलीकाप्टरों के काफिले में शामिल आईएएफ के एक हेलीकाप्टर को एक रनवे पर उतरने की उस समय इजाजत दे दी गई जिस समय उस रनवे पर एअर इंडिया के एक विमान को उड़ान भरने की मंजूरी दे दी गई थी और भिड़ंत होते होते बची।

इससे पहले, राष्ट्रपति के सचिव क्रिस्टी फर्नाडिस ने रक्षा सचिव प्रदीप कुमार से बातचीत की और कहा कि मामले की पूरी जांच होनी चाहिए। राष्ट्रपति भवन के प्रवक्ता ने घटना को मामूली बताया है। उन्होंने नई दिल्ली में कहा कि घटना तब घटी जब हेलीकाप्टर रनवे से टर्मेक की ओर जा रहा था। रास्ते में हेलीकाप्टर के रोटर पंखे एक खाली पड़े ढांचे से जा टकराए। राष्ट्रपति सुरक्षित हैं और अन्य यात्री भी सुरक्षित हैं। विमानन विशेषज्ञ एअर मार्शल (अवकाशप्राप्त) डेन्जिल कीलोर ने बताया कि पाटिल के हेलीकाप्टर की दुर्घटना का मामला गंभीर है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:राष्ट्रपति का हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त होते-होते बचा