DA Image
29 सितम्बर, 2020|9:43|IST

अगली स्टोरी

सियासी तनाव को क्रिकेट पर ना पड़ने दें : कादिर

सियासी तनाव को क्रिकेट पर ना पड़ने दें : कादिर

इंडियन प्रीमियर लीग से लगातार दूसरे साल बाहर रहने को पाकिस्तानी क्रिकेटरों के लिये बड़ा झटका बताते हुए पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर और मुख्य चयनकर्ता अब्दुल कादिर ने कहा है कि दोनों देशों को आपसी सियासी तनाव का असर क्रिकेट पर नहीं पड़ने देना चाहिये ।

कादिर ने लाहौर में कहा , आईपीएल से हमारे खिलाडि़यों के महरूम रहने में कहीं ना कहीं पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड की गलती है । पीसीबी ने समय रहते उपाय किये होते तो यह नौबत ही नहीं आती । 
    

मुझे लगता है कि दोनों मुल्कों के बीच दहशतगर्दी के कारण पैदा हुए सियासी तनाव का असर खेल पर पड़ रहा है जो ठीक नहीं है । हमारे खिलाडि़यों को इससे बहुत नुकसान हुआ है । उनकी कमाई का एक जरिया बंद हो गया और वह भी ऐसे समय में जबकि हमारे यहां ज्यादा अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट नहीं हो रही है ।
    

पाकिस्तानी क्रिकेटर आईपीएल तीन में नहीं दिखेंगे क्योंकि इस टी-20 लीग के तीसरे सत्र के लिये वीजा हासिल करने की आखिरी तारीख सात दिसंबर तक पीसीबी ने औपचारिकतायें पूरी नहीं की । इससे पहले पिछले साल मुंबई में आतंकवादी हमले के बाद दोनों मुल्कों के बीच आये तनाव के कारण पाकिस्तानी क्रिकेटर दक्षिण अफ्रीका में खेले गए आईपीएल के दूसरे सत्र से भी बाहर रहे थे ।
     
कादिर ने आईपीएल आयोजकों से पीसीबी को एक मौका और देने की अपील करते हुए कहा कि अभी भी आईपीएल में समय है। आयोजक पीसीबी पर देरी के लिये जुर्माना लगाकर उसे एक मौका और दे सकते हैं। पाकिस्तानी क्रिकेटरों का आईपीएल में खेलना दोनों मुल्कों के बीच तनाव दूर करने का अच्छा जरिया हो सकता है लिहाजा इस पहलू को अनदेखा नहीं करना चाहिये। पाकिस्तान के लिये 1977 से 1990 के बीच 67 टेस्ट और 104 वनडे खेलने वाले इस लेग स्पिनर ने अपने बोर्ड को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि अगर पीसीबी ने अच्छे फैसले लिये होते तो पाकिस्तान क्रिकेट का यह हश्र नहीं होता।

 उन्होंने कहा, पीसीबी हर मामले में खुलकर गलती करता आया है। उसके फैसले निष्पक्ष और ईमानदार नहीं होते और निजी पसंद हमेशा उन पर हावी रहती है। आईपीएल का मसला हो या टीम के कप्तान को चुनने का,पीसीबी ने हर कदम पर गलती की और उसका खामियाजा खिलाडि़यों ने भुगता।

 टी-20 क्रिकेट को मनोरंजन का बेहतरीन माध्यम बताने वाले कादिर इस बात से भी इत्तेफाक नहीं रखते कि बीसीसीआई की टी-20 लीग से टेस्ट क्रिकेट का कत्ल हो रहा है। मैं इस दौर में पैदा होता तो टी-20 क्रिकेट जरूर खेलता। मुझे नहीं लगता कि टी-20 लीग से टेस्ट क्रिकेट को कोई खतरा है। क्रिकेट के तीनों प्रारूप एक साथ बने रह सकते हैं। इससे खिलाडि़यों के लिये रोजगार के मौके अधिक बनते हैं।
     

भारतीय टीम को नंबर वन टेस्ट टीम बनने पर बधाई देते हुए कादिर ने कहा कि मैं धोनी एंड कंपनी को इस उपलब्धि के लिये बधाई देना चाहता हूं । हिन्दुस्तान को ही नहीं बल्कि पूरे एशिया को उन पर फख्र है । पाकिस्तान ने टी-20 विश्व कप जीता और भारत इसी साल नंबर वन टेस्ट टीम बना जो हमारे लिये बहुत फख्र की बात है ।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:सियासी तनाव को क्रिकेट पर ना पड़ने दें : कादिर