class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नई फिल्मों का टेलीविजन पर प्रदर्शन. अच्छा या बुरा!

नई फिल्मों का टेलीविजन पर प्रदर्शन. अच्छा या बुरा!

बड़े पर्दे पर प्रदर्शित होने के कुछ दिन बाद ही फिल्में छोटे पर्दे पर  दर्शकों का घर पर ही मनोरंजन कर रही हैं। डायरेक्ट टू होम (डीटीएच) या चैनलों को इन्हें प्रदर्शित करने के अधिकार मिलने से कुछ लोगों को खुशी है तो कुछ इससे नाखुश हैं।

छोटे पर्दे पर आने वाले दिनों में नई फिल्म कैटरीना कैफ और रणबीर कपूर अभिनीत 'अजब प्रेम की गजब कहानी' होगी। यह फिल्म कलर्स चैनल पर इस साल के अंत में प्रदर्शित की जाएगी।

फिल्म 'अजब प्रेम.' के निर्माता रमेश तौरानी ने कहा, ''दिसम्बर के अंत में 'अजब प्रेम.' फिल्म का उपग्रह प्रसारण होगा। थियेटर में प्रदर्शित होने के दो महीने बाद ही यह फिल्म टेलीविजन पर दिखेगी। आजकल थियेटरों से चार सप्ताह का व्यापार ही होता है, हालांकि थियेटर में प्रदर्शन से ही फिल्म सफल होती है।''

बड़े पर्दे पर प्रदर्शन के कुछ दिन बाद ही टेलीविजन पर दिखाई जाने वाली अन्य फिल्में हैं- 'ब्लू', 'स्लमडॉग मिलिनेयर', 'कमीने' और 'वाट्स योर राशि?'। फिल्मों का इस तरह से प्रदर्शन होने पर फिल्मकारों की मिली-जुली प्रतिक्रिया है। साजिद खान कहते हैं कि नई फिल्म के प्रदर्शन के कुछ दिन बाद ही उसे बिना कोई पैसा लिए इंटरनेट पर प्रदर्शित करना अच्छा है। फिल्मकार महेश भट्ट कहते हैं, ''बदलाव को टाला नहीं जा सकता।''

फिल्मकार प्रतीश नंदी कहते हैं, ''यदि वितरकों को इससे कोई दिक्कत नहीं है, तो इससे कोई नुकसान नहीं होगा। मुझे लगता है कि ये अच्छा है।''अनीस बज्मी और सुनील दर्शन नई फिल्मों के टेलीविजन पर जल्दी प्रदर्शन से खुश नहीं हैं और इसकी आलोचना करते हैं। इसी तरह कई अन्य फिल्मकारों की फिल्में टेलीविजन पर जल्दी प्रदर्शन की वजह से ज्यादा कमाई नहीं कर सकी हैं।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नई फिल्मों का टेलीविजन पर प्रदर्शन. अच्छा या बुरा!