अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राव की हालत और बिगड़ी, पीएम करेंगे अहम बैठक

राव की हालत और बिगड़ी, पीएम करेंगे अहम बैठक

अलग तेलंगाना राज्य की मांग पर अनशन कर रहे तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के प्रमुख के.चंद्रशेखर राव की हालत बिगड़ती जा रही है और आंध्र प्रदेश के तेलंगाना क्षेत्र में बढ़ते तनाव को देखते हुए धारा 144 लगा दी गई है। राव के अनशन बुधवार को ग्यारहवें दिन भी जारी रहा।

पुलिस ने तनाव को देखते हुए चौकसी बढ़ा दी है। हैदराबाद और तेलंगाना के नौ अन्य जिलों में धारा 144 के तहत पांच या पांच से अधिक लोगों के जमावड़े पर प्रतिबंध लगा दिया है। निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्त कदम उठाने का निर्देश दिया गया है। पुलिस ने आंदोलनकारियों के सख्त तेवर को देखते हुए विश्वविद्यालयों को अपने नियंत्रण में ले लिया है।

इधर प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने तेलंगाना मुद्दे पर भूख हड़ताल कर रहे टीआरएस प्रमुख के चंद्रशेखर राव की स्थिति की इलाके के कांग्रेस सांसदों से जानकारी ली। कल रात रूस से लौटे मनमोहन ने तेलंगाना के सांसदों से मुलाकात की और उनसे राव के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली। आंध्र प्रदेश कांग्रेस के सूत्रों ने बताया कि प्रधानमंत्री ने लोकसभा में अनौपचारिक बैठक में सांसदों से प्रदर्शन के चलते प्रदेश की स्थिति के बारे में भी जानकारी ली।

सूत्रों ने बताया कि सांसदों ने प्रधानमंत्री से इस मुद्दे पर जल्दी फैसला लेने की अपील करने के लिए उनसे मिलने का समय मांगा था। समझा जा रहा है कि सांसदों ने प्रधानमंत्री से कहा कि प्रदेश की स्थिति गंभीर है और इसे नियंत्रण में लाने के लिए तुरंत कदम उठाने की जरूरत है। सूत्रों ने बताया कि प्रधानमंत्री इस मुद्दे पर चर्चा करने के लिए आज इलाके के सांसदों और वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं के साथ बैठक करेंगे।
उधर, तेलंगना राज्य के गठन के पक्ष में प्रस्ताव पारित किए जाने की मांग को लेकर तेलंगाना राष्ट्र समिति के सदस्यों द्वारा किए गए जबरदस्त हंगामे के बाद आंध्र प्रदेश विधान सभा की बैठक को आज दिन भर के लिए स्थगित कर दिया गया। पूरे दिन के लिए सदन की बैठक को स्थगित करने की घोषणा करने से पूर्व विधान सभा अध्यक्ष एन किरनकुमार रेड्डी ने हंगामे के कारण पहले दो बार कुछ कुछ समय के लिए सदन की बैठक को स्थगित किया और फिर हंगामा थमता न देख पूरे दिन के लिए स्थगित कर दिया।

आज लगातार दूसरे दिन भी टीआरएस के सदस्यों ने तेलंगाना राज्य के गठन के पक्ष में प्रस्ताव पारित किए जाने की मांग को लेकर सदन में जोरदार नारेबाजी की। वे अपने अपने हाथों में बैनर लिए हुए थे। इससे पूर्व विधान सभा अध्यक्ष एन किरनकुमार रेडडी, मुख्यमंत्री के रोसैया और विपक्षी नेता एन चंद्रबाबू नायडू ने संयुक्त रूप से अपील की थी कि राज्य की कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए टीआरएस अध्यक्ष के चंद्रशेखर राव अपना भूख हड़ताल समाप्त कर दें।

मुख्यमंत्री के रोसैया ने टीआरएस के सदस्यों से अपील की कि राज्य सरकार इस मुद्दे पर बहस कराने के लिए तैयार हो गई है इसलिए वे सदन का कामकाज चलने दें। उन्होंने कहा कि केन्द्र को तेलंगाना मामले में फैसला करने के लिए समय दिया जाना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह एक संवेदनशील मामला है और प्रस्ताव पारित करना कोई सरल कार्य नहीं है। उन्होंने कहा कि यह मामला केंद्र सरकार के समक्ष विचाराधीन है।

इधर तेलंगाना राष्ट्र समिति के प्रमुख के एस चन्द्रशेखर राव की बिगड़ती स्थिति पर लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार सहित सभी दलों के सदस्यों ने सदन में गहरी चिंता जताई और प्रधानमंत्री से आग्रह किया वह तुरंत मामले में हस्तक्षेप करके उनकी भूख हड़ताल तुड़वाएं। प्रशनकाल समाप्त होने पर मीरा कुमार ने कहा, सदन के सम्मानित सदस्य राव बहुत अस्वस्थ हो गए हैं। हम सब इसे लेकर चिंतित हैं। पूरे सदन की कामना है कि वह शीघ्र स्वास्थ्य लाभ करें।

विपक्ष के नेता लालकृष्ण आडवाणी ने कहा कि राव सदन के बहुत सम्मानित सदस्य हैं और सूचना मिली है कि उनकी स्थिति काफी गंभीर है। तेलंगना राज्य को सब तरफ से समर्थन मिल रहा है, सरकार को भी इसका समर्थन करके समस्या का समाधान करना चाहिए। हमारे लिए तेलंगना के साथ राव का जीवन भी महत्वपूर्ण है। उन्होंने राव से अनशन समाप्त करने का आग्रह किया।

शहरी विकास मंत्री जयपाल रेड्डी ने राव से अनशन तोड़ने की अपील करते हुए कहा कि जिससे कि तेलंगना मुद्दे पर चर्चा की जा सके। जदयू के शरद यादव ने कहा कि तेलंगना क्षेत्र और राव दोनों के हालात पिछले दस दिन से काफी बिगड़ गए हैं और सरकार को तत्काल समाधान का रास्ता ढूंढना चाहिए।
 भाकपा के गुरूदास दासगुप्ता ने इस मामले में प्रधानमंत्री से पहल करने की मांग करते हुए समस्या के समाधान के लिए तुरंत सर्वदलीय बैठक बुलाने की मांग की।

राज्य सभा में भी बुधवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सदस्यों की ओर से तेलंगाना मुद्दे पर सरकार से बयान की मांग करने के बाद हुए हंगामे की वजह से सदन की कार्यवाही स्थगित करनी पड़ी। भाजपा नेता वेंकैया नायडू ने कहा कि राव की बिगड़ती हालत चिंता का विषय है। पार्टी के एक अन्य सदस्य एस एस आहलूवालिया ने पूछा, ''गृह मंत्री सदन में मौजूद हैं। इस पर वह बयान क्यों नहीं देते?''

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:राव की हालत और बिगड़ी, पीएम करेंगे अहम बैठक