class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दो टूक (09 दिसंबर, 2009)

चार साल पहले राजधानी का सहमा देने वाला धौलाकुआं बलात्कार कांड।  दिल्ली विश्वविद्यालय की छात्र के साथ हुए इस हादसे से कलेजा धक्क से रह गया था! लगा, दिल्ली में एक पढ़ी-लिखी लड़की दुष्कर्मियों का निशाना बन सकती है तो बाकी जगह महिलाएं कितनी सुरक्षित होंगी?

अंतत: अदालत ने मामले के एक आरोपी को बलात्कारी ठहरा दिया। भले ही तीन आरोपी अब भी फरार हैं और मुजरिम के परिजन भी ऊंची अदालत में जाने का मन बना रहे हैं, लेकिन फैसले ने बता दिया है इंसाफ मिलता है बशर्ते मुंह छिपाने के बजाय दोषियों को सजा दिलाने की लड़ाई डटकर लड़ी जाए।  इस जंग में कमजोर ना पड़ने पर पीड़िता और उनके परिजनों को सलाम। शर्मसार तो अब दोषियों को होना है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दो टूक (09 दिसंबर, 2009)