अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एंटी रैबीज इंजेक्शन के लिए अस्पताल में मारामारी

शहर में कुत्ता व बंदर के काटने के शिकार होने वालों का आकंड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है। जिला अस्पताल में रोजाना 100 से अधिक एंटी रैबीज इंजेक्शन लगवाने वालों की लाइन लगी रहती है। सोमवार के दिन यह संख्या बढ़ जाती है। इंजेक्शन लगवाने के लिए मरीजों की लाइन सुबह छह बजे से लगनी शुरू हो जाती है।


डिप्टी सीएमएस डा. वीरेंद्र नाथ के मुताबिक सबसे ज्यादा मामले नंदग्राम, अर्थला व कैल्ला भट्टा क्षेत्र के हैं। उनका कहना है कि बंदर काटे जाने वालों का आंकड़ा पांच से दस फीसदी तक ही रहता है। इंजेक्शन बिना डाक्टर के चेकप के नहीं लगाया जाता। मरीजों को पहले इसकी जांच करानी होती है। घाव को देखते हुए डाक्टर निर्धारित करता है कि तीन इंजेक्शन लगाने की जरूरत हैं या फिर पांच। दांतों के गहरे घाव होने पर पांच इंजेक्शन लगाने की जरूरत होती है जबकि हल्का सी खरोज पर इंजेक्शन से काम चल जाता है। उनके मुताबिक अस्पताल में एंटी रैबीज इंजेक्शनों की कोई कमी नहीं है। जहां पहले तीस से चाल मरीज इस इंजेक्शन को लगवाने आते थे वहीं इब इनका आकंड़ा दोगुना हो गया है। शनिवार को हॉफ डे व रविवार को अवकाश के कारण सोमवार को ज्यादा मारामारी रहती है। कुत्ता काटे जाने वाले नए मरीजों की संख्या ज्यादा नहीं होती लेकिन तीन दिन बाद दूसरा व नौ दिन बाद तीसरा इजेक्शन लगने के कारण भीड़ ज्यादा हो जाती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एंटी रैबीज इंजेक्शन के लिए अस्पताल में मारामारी
दूसरा टी-20 अंतरराष्ट्रीय
भारत188/4(20.0)
vs
दक्षिण अफ्रीका189/4(18.4)
दक्षिण अफ्रीका ने भारत को 6 विकटों से हराया
Wed, 21 Feb 2018 09:30 PM IST
दूसरा टी-20 अंतरराष्ट्रीय
भारत188/4(20.0)
vs
दक्षिण अफ्रीका189/4(18.4)
दक्षिण अफ्रीका ने भारत को 6 विकटों से हराया
Wed, 21 Feb 2018 09:30 PM IST
तीसरा टी-20 अंतरराष्ट्रीय
दक्षिण अफ्रीका
vs
भारत
न्यूलैन्ड्स, केपटाउन
Sat, 24 Feb 2018 09:30 PM IST