DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कई और लोगों के घरों की तलाशी की तैयारी

निगरानी के अधिकारी दो पूर्व मंत्रियों के आप्त सचिव रहे संजय कुमार और अतिश कुमार सिंह के घरों से बरामद कागजातों से सबूत ढूंढने की कोशिश कर रहे हैं। निगरानी ने चार टीम बना कर इस गरा से तलाशी अभियान चलाया था कि आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने के मामले में दर्ज एफआइआर के आरोपी दो पूर्व मंत्री एनोस एक्का और हरिनारायण राय की संपत्ति के बार में जानकारी मिलेगी। निगरानी को इस अभियान में सिर्फ इतना पता चला कि दोनो आरोपियों के रिश्तेदारों के नाम जो कंट्रक्शन कंपनी के कार्यालय का पता रांची में दिया गया था। वह सही नहीं था। एनोस एक्का के आप्त सचिव रहे अतिश सिंह के अरसंडे कांके स्थित घरों की तालाशी में भी ज्यादा कुछ हाथ नहीं लगा। निगरानी के अधिकारी कहते हैं अतिश का तीन मंजिला घर है जो छह डीसमिल जमीन पर है। वहीं 55 डीसमील भूमि में एक और घर बन रहा है जिसमें स्वीमिंग पूल तक की व्यवस्था है। निगरानी की टीम का मानना है कि मंत्री का आप्त सचिव भी आय से अधिक संपत्ति अर्जि करने में शामिल है। निगरानी दोनो आप्त सचिवों को इस मामले में लपेटे में ले सकती है। संजय कुमार का डोरंडा के ऑफिसर्स कॉलोनी में घर है। वहां भी ज्यादा कुछ हाथ नहीं लगा था लेकिन इस मामले में उन्हे भी दोषी माना जा रहा है। महामाया कंस्ट्रक्शन हरिनारायण राय के रिश्तेदार का बताया जाता है। लेकिन जहां का पता था वह एक ट्रेवल एजेंट का कार्यालय निकला। इसके प्रोपराइटर पीके त्रिपाठी हैं। वहीं अशोक नगर के जिस अपार्टमेंट एक्का कंस्ट्रक्शन होने की बात कही गयी थी वहां भी दूसरी कंपनी है। पूर मामले की छानबीन जारी है। बरामद कागजातों को निगरानी के अधिकारी बारीकी से जांच कर रहे हैं। चर्चा कि इसी मामले में कई और लोगों के घरों की तलाशी ली जायेगी।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कई और लोगों के घरों की तलाशी की तैयारी