अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राज्य पशु कस्तूरा मृग की आई शामत

बर्फबारी शुरू हो जाने के साथ ही शिकारियों के कई गिरोह उच्च हिमालयी क्षेत्रों में फैल गए हैं। शीतकाल में गर्म स्थानों की ओर उतर आने वाले कस्तूरा मृग और हिमालयी भालू शिकारियों के निशाने पर हैं। वन अधिकारी हालांकि कह रहे हैं कि उन्होंने इन जीवों की सुरक्षा के लिए पर्याप्त इंतजाम कर लिए हैं, परन्तु पिछले रिकार्ड को देखते इन दावों पर आसानी से विश्वास नहीं होता।

उत्तराखंड का राज्य पशु कस्तूरी मृग चमोली, पिथौरागढ़ और उत्तरकाशी के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में पाया जाता है। नंदादेवी राष्ट्रीय पार्क में 179, फूलों की घाटी में 60, अस्कोट अभयारण्य में 96 और केदारनाथ अभ्यारण्य में 120 कस्तूरी मृग बताये जाते हैं। नाभि में पाए जाने वाले बहुमूल्य कस्तूरा ग्रंथि के कारण यह हमेशा से शिकारियों के निशाने पर रहे हैं।

शीतकाल इन मृगों का सबसे अधिक शिकार किया जाता है। वन अधिकारी बताते हैं कि, ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी के कारण कस्तूरा जाड़ों में निचली घाटियों की ओर आ जाते हैं। नंदादेवी बायोस्फेयर रिजर्व प्रभागीय वनाधिकारी एसआर प्रजापति का कहना है कि, शीतकाल में कस्तूरा मृगों के अवैध शिकार की वारदातों की आशंका को देखते हुए पार्क क्षेत्र में वन कर्मियों को चौकन्ना कर दिया गया है।

केदारनाथ वन प्रभाग के डीएफओ धीरज पांडेय का भी कहना है कि अभ्यारण्य में कस्तूरी के संभावित शिकार वाले स्थानों पर वनकर्मियों को नजर रखने को कहा गया है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:राज्य पशु कस्तूरा मृग की आई शामत
दूसरा टी-20 अंतरराष्ट्रीय
भारत188/4(20.0)
vs
दक्षिण अफ्रीका189/4(18.4)
दक्षिण अफ्रीका ने भारत को 6 विकटों से हराया
Wed, 21 Feb 2018 09:30 PM IST
दूसरा टी-20 अंतरराष्ट्रीय
भारत188/4(20.0)
vs
दक्षिण अफ्रीका189/4(18.4)
दक्षिण अफ्रीका ने भारत को 6 विकटों से हराया
Wed, 21 Feb 2018 09:30 PM IST
तीसरा टी-20 अंतरराष्ट्रीय
दक्षिण अफ्रीका
vs
भारत
न्यूलैन्ड्स, केपटाउन
Sat, 24 Feb 2018 09:30 PM IST