DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्वाइन फ्लू के चलते रद्द होने लगे सामुहिक कार्यक्रम

स्कूलों में स्वाइन फ्लू के बढ़ते मामलों को देखते हुए प्राइवेट स्कूल प्रबंधक सतर्क हो गए हैं। इसके चलते अधिकतर स्कूलों में सामुहिक कार्यक्रम रद्द होने लगे हैं। कई स्कूलों ने सुबह आयोजित होने वाली असेंबली पर रोक लगा ली है। छात्रों को अध्यापकों द्वारा स्वाइन फ्लू की जानकारी दी जा रही हैं। ताकि स्वाइन फ्लू को रोका जा सके।


स्वाइन फ्लू के बढ़ते प्रकोप का असर शहर के प्राइवेट स्कूलों में दिखने लगा है। लगाताकर स्कूलों में मिल रहे स्वाइन फ्लू के मरीजों को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग के साथ स्कूल प्रबंधक भी सतर्क हो गए हैं। अधिकतर स्कूलों में सुबह लगने वाली असेंबली स्थगित कर दी गई हैं। असेंबली के दौरान होने वाले कार्यक्रमों को क्लास में करवाया जा रहा है। इसके लिए स्कूलों में स्पेशल क्लास पीरियड़ लगाया जा रहा है। क्लास टीचर को बच्चों की हर गतिविधियों पर नजर रखने के निर्देश दिए गए हैं। किसी बच्चों को सर्दी, खांसी की शिकायत होने पर उनके अभिभावकों से संपर्क करना है। स्कूल प्रबंधकों ने यह नए नियम स्वाइन फ्लू के बढ़ते मामलों को देखते हुए तय किए हैं। वहीं स्वाइन फ्लू के बढ़ते मामलों को देखते हुए स्वास्थ्य विभग ने स्कूलों में डॉक्टर टॉक शो करवा रहा है। इसके लिए विभाग ने स्कूलों की सूची तैयार की है। इस सूची के आधार पर अलग-अलग दिन स्कूलों में जागरुकता अभियान छेड़ा जाएगा।

डीएवी पब्लिक स्कूल सेक्टर-14 के प्रिंसिपल एस एस चौधरी ने बताया कि स्कूल में असेंबली खत्म कर दी गई है। स्कूल प्रबंधन पहले भी सर्दी बढ़ने के बाद असेंबली लगाना बंद कर देता है। लेकिन इस बार स्वाइन फ्लू को देखते हुए असेंबली पर रोक लगा दी गई है। इसके साथ ही बच्चों को स्वाइन फ्लू के प्रति जागरुक कराया जा रहा है। रेयान इंटरनेशनल स्कूल की प्रिंसिपल कपिला इंदु ने बताया कि बच्चों को स्वाइन फ्लू के बारे में बताया जा रहा है। इसके चलते टीचर को खासतौर पर बच्चों पर नजर रखने के निर्देश दिए गए हैं। स्कूल में स्वाइन फ्लू के लक्षण और बचाव के तरीके स्कूल में जगह-जगह चस्पा दिए हैं। ताकि बच्चाे इन्हें पढ़कर स्वाइन फ्लू के बारे में जान सकें।  ।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:स्वाइन फ्लू के चलते रद्द होने लगे सामुहिक कार्यक्रम