class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तीसरे चरण का मतदान समाप्त, एक जवान की मौत

झारखंड विधानसभा के तीसरे चरण का मतदान मंगलवार को समाप्त हो गया। लेकिन, इस दौरान संदिग्ध माओवादियों के हमले में बीएसएफ के एक जवान की मौत हो गई, जबकि एक अन्य घायल हो गया।
मतदान के दौरान दुमका और गिरिडीह में संषर्घ की कुछ छिटपुट घटनाओं के समाचार है।

चुनाव आयोग के अधिकारियों के अनुसार, प्रारंभिक रिपोर्ट में 47 से 50 प्रतिशत मतदाताओं के मताधिकार का प्रयोग करने की रिपोर्ट है लेकिन, यह प्रतिशत बढ़ सकता है। हजारीबाग, धनवार, बागोदर, जमुआ, बेरमो, बोकारो, चंदनकियारी, शिकारीपारा, दुमका, जामा और जारमुंडी सीटों पर मतदान दोपहर बाद तीन बजे समाप्त हुआ। तीसरे चरण के मतदान में 115 निर्दलीय समेत 237 उम्मीदवार चुनाव मैदान में अपनी किस्मत आजमा रहे हैं।

शिकारीपारा विधानसभा क्षेत्र में संदिग्ध माओवादियों के हमने में बीएसएफ के एक जवान की मौत हो गई, जबकि एक अन्य घायल हो गया। राज्य के पुलिस महानिरीक्षक वी.एच. देशमुख ने कहा कि सारासदंगल जंगल के पास संदिग्ध माओवादियों ने बीएसएफ दल पर दोपहर बाद तीन बजे के करीब गोलीबारी शुरू कर दी। इस घटना में एक जवान की गोली लगने से मौत हो गई, जबकि दूसरा पेट में गोली लगने से घायल हो गया।

तीसरे चरण का मतदान समाप्त होने के साथ राज्य के पूर्व उप मुख्यमंत्री स्टीफन मरांडी (कांग्रेस), पूर्व मंत्री नलिन सोरेन (झामुमो), समरेश सिंह (जेवीएमपी), झामुमो अध्यक्ष शिबु सोरेन के पुत्र हेमंत सोरेन और उनकी पुत्रवधु सीता सोरेन जैसे प्रमुख नेताओं के भाग्य का फैसला ईवीएम मशीन में बंद हो गया।

झारखंड विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने बाबूलाल मरांडी की पार्टी जेवीएमपी के साथ चुनाव पूर्व गठबंधन किया है। जबकि भाजपा और जद-यू गठजोड़ के अलावा राजद (लोजपा) वामदलों का गठबंधन चुनावी समर में हैं।

राज्य में चौथे चरण का मतदान 12 दिसंबर और पांचवें एवं अंतिम चरण का मतदान 18 दिसंबर को निर्धारित है। चुनाव परिणाम 23 दिसंबर को घोषित किए जाएंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:तीसरे चरण का मतदान समाप्त, एक जवान की मौत