अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

परमाणु प्रसार की चुनौतियों का मिलकर सामना करेंगे भारत-रुस

परमाणु प्रसार की चुनौतियों का मिलकर सामना करेंगे भारत-रुस

भारत और रुस ने परमाणु हथियारों के प्रसार और आतंकवाद से बीच संभावित संबंध के चलते उपजी चुनौतियों से त्वरित तौर पर निपटने की जरूरत बताई है।

दोनों देशों ने आगाह किया है कि परमाणु हथियारों के दुष्ट तत्वों के हाथ लग जाने की आशंका अंतरराष्ट्रीय शांति तथा सुरक्षा के समक्ष खतरा खड़ा करती है और इससे देशों की सुरक्षा कम होती है।

दोनों देशों ने किसी भी राष्ट्र का विशेष तौर पर नाम नहीं लिया, लेकिन रुस के राष्ट्रपति दमित्री मेदवेदेव ने सोमवार को प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के साथ बातचीत के बाद कहा कि रुस पाकिस्तान में परमाणु संपत्तियों के दुष्ट तत्वों के कब्जे में चले जाने की आशंका को लेकर चिंतित है।

सिंह और मेदवेदेव के बीच शिखर वार्ता के बाद जारी संयुक्त वक्तव्य में दोनों देशों ने कहा कि यह परमाणु निरस्त्रीकरण की दिशा में आया एक जटिल बदलाव है और इससे परमाणु ऊर्जा के शांतिपूर्ण इस्तेमाल के लिए हो रहे व्यापक अंतरराष्ट्रीय सहयोग पर नकारात्मक असर पड़ सकता है।

शिखर वार्ता के बाद सिंह के साथ संयुक्त संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए मेदवेदेव ने कहा कि निस्संदेह आतंकवाद इस शताब्दी और बीती शताब्दी की एक खतरनाक समस्या है और परमाणु हथियारों की सुरक्षा एक संवेदनशील मसला है।


मेदवेदेव ने आतंकवादी तत्वों के परमाणु संपत्तियों पर कब्जा कर लेने की आशंका जताती खबरों की पृष्ठभूमि में पाकिस्तान के जाहिरा संदर्भ में कहा कि यह सुनिश्चित कराने की जरूरत है कि परमाणु संपत्तियां सुरक्षित हाथों में रहे और चरमपंथियों के हाथ न लगे। दोनों देशों ने वैश्विक अप्रसार की दिशा में काम करने का भी प्रण किया।

बैठक तथा शिष्टमंडल स्तरीय वार्ता में क्षेत्रीय मुद्दों पर हुई चर्चा के दौरान सिंह ने कहा कि भारत और रुस हमारे क्षेत्र से उठते और दोनों देशों के समाजों के समक्ष खतरा खड़ा करते आतंकवाद तथा धार्मिक उग्रवाद से उपजी गंभीर चुनौतियों से निपटने की दिशा में सहयोग को विस्तार देने पर सहमत हुए हैं।

सिंह ने कहा कि भारत और रुस के स्थिर, खुशहाल और उदारवादी अफगानिस्तान में हित हैं। हम इस महत्वपूर्ण मुद्दे पर एक-दूसरे के साथ नियमित सलाह मशविरा करने पर सहमत हुए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:परमाणु प्रसार की चुनौतियों का मिलकर सामना करेंगे भारत-रुस