अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सासाराम दुर्घटना से ट्रेनों का संचालन हुआ प्रभावित

बिहार में सासाराम जिले के शिवशंकरी धाम स्टेशन के पास अप लाइन से गुजर रही मालगाड़ी की 26 बोगियां पटरी से उतर जाने से ट्रेनों का संचालन सोमवार को पूरे दिन प्रभावित रहा। अप लाइन से गुजरने वाली अधिकांश ट्रेनें सात से आठ घंटे तक विलंबित रहीं।

सुबह पांच बजे स्थानीय स्टेशन से गुजरने वाली 2175 चम्बल व कालका समेत तीन एक्सप्रेस गाड़ियां अनिश्चितकाल तक विलंबित रहीं। इससे यात्रियों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। भोर से ही ट्रेनों के इंतजार में यात्री स्टेशन पर बैठे रहे।

उल्लेखनीय है कि सोमवार की भोर साढ़े तीन बजे के करीब बिहार के सासाराम जिले के शिवशंकरी धाम के पास मालगाड़ी के 26 बोगी पटरी पर से उतर जाने से इलाहाबाद-गया होते हुए हाबड़ा जाने वाली ट्रेनों का संचालन ठप हो गया। इस मार्ग से गुजरने वाली अधिकांश ट्रेनों को शिवशंकरी धाम के पहले ही रोक दिया गया। इस मार्ग पर ट्रेनों का संचालन ठप हो जाने से 2175 चम्बल एक्सप्रेस, 2311 कालका मेल, 2321 हाबड़ा-मुम्बई मेल, 2307 जोधपुर-हाबड़ा मेल आदि ट्रेनें बीच रास्ते में ही खड़ी कर ली गई। इससे इन ट्रेनों से यात्रा करने वाले यात्रियों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ा।

चम्बल एक्सप्रेस, कालका मेल, मुम्बई मेल अनिश्चितकाल विलंबित रहीं। वहीं जोधपुर-हाबड़ा एक्सप्रेस करीब आठ घंटे विलंबित रही। इन ट्रेनों से यात्रा करने वाले यात्री पूरे दिन स्टेशन पर फंसे रहे। वहीं दो दर्जन यात्रियों को मजबूरन अपनी यात्रा स्थगित करनी पड़ी। इससे रेलवे को भी भारी आर्थिक क्षति उठानी पड़ी। इस हादसे का बुरा असर डाउन लाइन की ट्रेनों के संचालन पर भी पड़ा।

मुगलसराय में ट्रेनों की संख्या बढ़ जाने से इस मार्ग से गुजरने वाली एक्सप्रेस ट्रेनें और मालगाड़ियां बीच के स्टेशनों पर फंसी रहीं। इससे यात्रियों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। जिन यात्रियों के साथ छोटे बच्चों थे, वे खानपान के सामानों के लिए स्टेशन के आसपास की दुकानों पर भटकते रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सासाराम दुर्घटना से ट्रेनों का संचालन हुआ प्रभावित