अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लेखक और बीवी

कोई भी लेखक दस-बीस फीसदी प्रतिभा और सत्तर-अस्सी फीसदी गलतफहमी के दम पर ही लेखक बनता है। ये अहसास और जबरन खुद पर थोपी गई ये जिम्मेदारी कि मेरा जन्म कुछ महान करने के लिए हुआ है, लेखक को हमेशा रोजमर्रा के छोटे-मोटे काम करने से रोकता है। वो मानता है कि बड़े लोग हमेशा अपने काम की वजह से जाने जाते हैं न कि इसलिए नहाने के बाद तौलिया रस्सी पर डालते हैं या नहीं या फिर बचपन में मौहल्ले की दुकान से कभी किराना लाए या नहीं।

दिक्कत वहां आती है, जब यही लेखक शादी कर बैठता है। वो कंचनबाला जो इसी लेखक की क्रिएटिविटी के गुण गाते नहीं थकती थी उसे क्या पता कि रचनात्मकता हमेशा पैकेज डील में आती है। जो शख्स उसे दुनिया का सबसे होनहार और अक्लमंद इंसान लगता था, शादी के महज तीन महीने में ही वो उसे एलियन लगने लगता है। हर पल वो यही सोचती है कि कोई इंसान इतना गंदा कैसे रह सकता है! इतने चलताऊ रवैये के साथ कैसे जी सकता है! और यहीं से..ज़ी हां दोस्तो, ठीक यहीं से वो प्रक्रिया शुरू होती है, जो वर्षो से रास्ता भटकी लेखक की अक्ल को ठिकाने लाने का काम करती है।

आप अगले लेख के लिए विषय तलाश रहे हैं और बीवी रसोई से आवाज लगाती है- ज़रा इधर आना़.  लाइटर नहीं मिल रहा। आप लेखन से क्रांति की अलख जगाना चाहते हैं, वो लाइटर से चूल्हा जलाना चाहती है। आप सोच रहे हैं कि समाज में अपराध के मामले बढ़ते जा रहे हैं.. वो बताती है कि पेस्ट कंट्रोल करवा लेते हैं अलमारियों में कीड़े-मकोड़े बढ़ते जा रहे हैं। आप दिल का छू ले, ऐसा भाव तलाश रहे हैं... वो फिक्रमंद है कि सब्जी के भाव फिर बढ़ गए हैं!

आप दस दिन से बीवी की डांट खाने के बाद पिछले कमरे का पंखा ठीक करवाते हैं... पता चलता है कि अगले दिन उसी कमरे की टय़ूब खराब हो गई। फिर दो दिन बाद बाथरूम में सीलन आ जाती है। बिग बाजार चलो.. महीने का राशन लाना है। इस संडे को मुझे चांदनी चौक वाली बुआ से मिलवा लाओ। अगली छुट्टी पर मौसी के बेटे सोनू को घर बुला लेते हैं। एक ही शहर में रहता है.. आज तक कभी बुलाया नहीं। इस सब के बावजदू समीक्षक ताना मारते हैं.. हर लेखक अपना बेहतरीन शुरू के साल में ही देता है.. बाद में तो सब खुद को रिपीट करता है। बनियान का विज्ञापन ठीक कहता है.. लाइफ में हो आराम तो आइडियाज आते हैं। आराम हो तो..।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लेखक और बीवी
पांचवां एक-दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच
अफगानिस्तान241/9(50.0)
vs
जिम्बाब्वे95/10(32.1)
अफगानिस्तान ने जिम्बाब्वे को 146 रनो से हराया
Mon, 19 Feb 2018 04:00 PM IST
पांचवां एक-दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच
अफगानिस्तान241/9(50.0)
vs
जिम्बाब्वे95/10(32.1)
अफगानिस्तान ने जिम्बाब्वे को 146 रनो से हराया
Mon, 19 Feb 2018 04:00 PM IST
फाइनल
न्यूजीलैंड
vs
ऑस्ट्रेलिया
ईडन पार्क, ऑकलैंड
Wed, 21 Feb 2018 11:30 AM IST