class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पर्यावरण संरक्षणः पुराली जलाने से रोकने पर खर्च होंगे 47 लाख

किसानों को यह समझाने के लिए कि वे खेतों में गेहूं और धान की पराली न जलाएं, स्टेट पोल्यूशन कंट्रोल बोर्ड ने साढ़े 47 लाख रुपए का प्लान तैयार किया है।   अंडर सेक्शन-19(5) ऑफ एयर (प्रीवेंशन एंड कंट्रोल ऑफ पोल्यूशन) एक्ट 1981 के तहत राज्य सरकार किसानों की इस गतिविधि पर रोक लगा सकती है।

एक्ट में पेनाल्टी एवं सजा का भी प्रावधान है। प्रशासनिक सूत्रों का कहना है कि सरकार एक्ट के तहत कार्रवाई कर किसानों को नाराज नहीं करना चाहती इसलिए जागरूकता अभियान चलाने का फैसला किया गया। जिला व ब्लॉक स्तर पर शुरू हुआ अभियान  बोर्ड ने जागरूकता अभियान के लिए ब्लॉक स्तर पर योजना तैयार की है।

सरपंच, पंच व लंबरदार को पर्यावरण संरक्षण का पाठ पढ़ाया जा रहा है। किसानों को लघु फिल्मों व नुक्कड़ नाटकों के जरिए पर्यावरण बचाने की जानकारी दी जायेगी। इस काम में स्कूली बच्चों की भी मदद ली जायेगी। अभियान पर प्रति ब्लॉक 40,000 रुपए खर्च किए जाएंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पुराली जलाने से रोकने पर खर्च होंगे 47 लाख