अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जांच एजेंसियां क्यों रह जाती हैं हाथ मलते

मुम्बई हमलों के बाद अमेरिकी खुफिया एजेंसी की मदद से दो विशेष नाम उभर कर आये हैं वह है हेडली व राणा का। आज जब मुम्बई हमले को एक वर्ष पूरा हो गया है, तब भारतीय एजेंसी हेडली व राणा का पिछला रिकार्ड खंगाल रही है। भारतीय एजेंसी हेडली व राणा के पाकिस्तान कनेक्शन, भारत की पिछली यात्राएं व उनके रुकने के ठिकाने की जांच कर रही है। क्या यह सब भविष्य में मुम्बई जैसे हमले रोक पाने में मुमकिन होगा।  आज जब यह सच भी पता लगा है कि हेडली का पाकिस्तानी प्रधानमंत्री गिलानी से भी रिश्ते हैं तथा हेडली व राणा देश के कई महत्वपूर्ण ठिकानों की रेकी भी कर चुके हैं। क्या देश की जनता की न्याय की उम्मीद कानूनी दावपेंच में ही उलझ कर रह जाएगी। आतंकवादी अपने मिशन से कामयाब हो जाएंगे एजेंसी जांच ही करती रह जाएगी।
अशोक शर्मा, 783, शालीमार गार्डन, साहिबाबाद

आरयूबी नहीं, आरओबी
एक ताजा नई खबर के मुताबिक दिल्ली में सरकार 17 आरयूबी यानी रोड अंडर ब्रिज 16 जून 2010 से पहले चालू करने जा रही है, जिस पर 480 करोड़ रुपए खर्च होंगे। लेकिन आरयूबी की जगह आरओबी यानी कि रोड ओवर ब्रिज ही ठीक है, क्योंकि आरयूबी बरसात में बुरी तरह फेल हो जाते हैं और फिर जाम-हादसों में जनता परेशान होती है। इसलिए देशहित में रोड ओवर ब्रिज ही बनाए जाएं। क्या ऐसे कार्यो पर जनमत लेना ठीक नहीं?
वेद, मामूरपुर नरेला, दिल्ली

सीसीटीवी कैमरे लगाएं  
चोरी, लूट, डकैती और हत्या की वारदातों में हो रही वृद्धि के चलते सार्वजनिक स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जाने अनिवार्य हैं। आए दिन जो वारदातें हो रही हैं। ऐसे में पुलिस ने भी शहरों के तमाम व्यावसायिक प्रतिष्ठानों, जहां रुपए का लेन-देन होता है, वहां सीसीटीवी कैमरे लगाए जाने की आवश्यकता जताई है। पुलिस की ओर से जिला प्रशासन को पत्र भेजा गया है।           
देश राज राणा, विकासनगर

शराब छोड़ो या तो गाड़ी छोड़ो
सावधान, दिल्ली पुलिस का शिकंजा शराबी ड्राईवरों के प्रति और कठोर हो गया। दिन-प्रतिदिन हो रही सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने के उद्देश्य से दिल्ली उच्च न्यायालय ने आदेश दिया कि जो भी ड्राईवर नशामापक यंत्र के दायरे में आएंगे, उनकी चलान तो कटेंगे ही, अब उनके लाईसेंस को भी जब्त कर लिया जाएगा। अत: गाड़ी चलाते समय या चलाने से पहले शराब की दोस्ती बहुत महंगी पड़ेगी।
संतोष कुमार सुमन, टाकवन स्कूल, नई दिल्ली

स्वाइन फ्लू से दहशत
देश में स्वाइन फ्लू का खतरा गहरा रहा है। स्वाइन फ्लू का कारण एच1एन1 वायरस बेहद खतरनाक है। हाल ही में हरियाणा के भिवानी जिले में स्वाइन फ्लू के बड़ी संख्या में मरीज मिले।  स्वाइन फ्लू आजकल दहशत का दूसरा नाम बन गया है। इसकी वजह से स्कूल-कॉलेजों को बंद करने की नौबत आ रही है।  अगर नियंत्रण का कोई तरीका न खोजा गया तो यह बीमारी और भी विकराल रूप धारण कर सकती है।  
सतीश भारद्वाज, कनखल, हरिद्वार

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जांच एजेंसियां क्यों रह जाती हैं हाथ मलते