DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सऊदी भेजने के नाम पर करोड़ों की ठगी

विदेश भेजने के नाम पर शहर के बेरोजगार युवकों से करोड़ों रुपये ठगने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। दिल्ली की एक ट्रैवल एजेंसी ने सऊदी अरब भेजने के लिए अखबरों में विज्ञापन निकाला और शहर के 44 युवकों का सेलेक्शन कर उनमें से प्रत्येक से 70 हजार से एक लाख बीस हजार रुपये तक जमा कराए। सभी का पासपोर्ट व अन्य जरूरी कागजात ले लिए गए।

रुपये लेने के बाद युवकों को दिल्ली स्थित फ्लाई ट्रैवल एजेंसी प्राइवेट लिमिटेड की रसीद दी गई। इन युवकों को दिल्ली स्थित एक पैथालाजी सेंटर बुलाकर उनका मेडिकल टेस्ट भी कराया गया। उसके बाद कंपनी ने सभी को डेट दे दी कि दिल्ली एयरपोर्ट पहुंचें, वहीं पासपोर्ट, वीजा और टिकट दिया जाएगा।

कुछ युवक दिल्ली पहुँचे तो उन्हें ठगी की जानकारी हुई। दिल्ली स्थित ऑफिस में ताला लटका मिला। कंपनी के आठ मोबाइल फोन लगातार बंद हैं। ठगी का शिकार हुए लोगों ने दिल्ली में मुकदमा दर्ज कराया है। सूबे के अन्य जिलों के युवकों से भी करोड़ों रुपये ऐंठे गए हैं।

विदेश भेजने के नाम पर ठगी की शुरुआत बहुत ही व्यवस्थित तरीके से हुई। 21 अगस्त 2009 को शहर के हिन्दी अखबारों में वर्गीकृत विज्ञापन छपवाया गया। बताया गया कि सऊदी अरब में हाजियों की खिदमत के लिए युवकों को नौकरी दी जा रही है। विज्ञापन हाजी करीम के नाम से छपा और उसके मोबाइल नंबर पर संपर्क करने की बात कही गई।

शहर के युवकों ने उन नंबरों पर कॉल की तो उन्हें फ्लाई ट्रैवल प्राइवेट लिमिटेड शाप नंबर 301 तृतीय तल प्लाट नंबर 06 सेक्टर 12 द्वारिका दिल्ली का पता दिया गया। कई युवकों ने संपर्क किया। उनसे रुपये जमा कराए जाने लगे। इलाहाबाद के सुलतानपुर भावा में रहने वाले फारूख अंसारी को कंपनी ने इलाहाबाद के युवकों के पासपोर्ट व अन्य कागजात जमा करने को कह दिया। कंपनी वाले कई बार यहाँ आए भी।

महँगे होटलों में रुके, इंटरव्यू का ड्रामा किया और युवकों को यकीन दिलाया कि उनको जल्द ही सऊदी अरब भेज दिया जाएगा। जिन युवकों से रुपये जमा कराए गए उन्हें बाकायदा फ्लाई ट्रैवल के नाम से छपी रसीद दी गई। शहर के 44 युवकों के परिवारवालों ने विदेश जाने के नाम पर अपने गहने, जमीन बेचकर रुपये दे दिए। दबाव बढ़ने पर ठगों ने करीब 27 युवकों को सोलह नवंबर को दिल्ली पहुँचने को कहा। उन्हें बताया गया कि कंपनी के आदमी एयरपोर्ट पर मौजूद रहेंगे और वीजा, टिकट देकर जहाज में बैठा देंगे। सभी युवक दिल्ली पहुँचे तो उन्हें धोखाधड़ी का अहसास हुआ।

एयरपोर्ट से वे सभी ट्रैवल एजेंट के ऑफिस पहुँचे तो वहाँ ताला लटका मिला। उनके मोबाइल भी बंद मिले। लाखों का चूना लगने के बाद जकरिया फारूख अंसारी, अबाद सैफी, अफसर अली, बेलाल, इमरान अहमद, इरफान, जावेद अहमद, कलीम उद्दीन, खालिद, मसूद, मेराजउद्दीन, मो. अरशद, मो. नसीद आदि ने थाना सेक्टर 16 बी द्वारका नई दिल्ली में तहरीर देकर रिपोर्ट दर्ज करा दी। अब युवक अपने पासपोर्ट के लिए इधर से उधर भटक रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सऊदी भेजने के नाम पर करोड़ों की ठगी