class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बेरोजगारों के 18 लाख लेकर कबूतरबाज चंपत

बेरोजगारी समाज के लिए अभिशाप बन चुकी है। बस एक अदद नौकरी मिल जाए, इसके लिए चाहे कितनी ही कीमत क्यों न चुकानी पड़े,  आजकल बेरोजगारों की सोच बन चुकी है। इसी सोच का फायदा उठाकर कर कई ठग सक्रिय हो गए हैं और बेरोजगारों को बेवकूफ बनाकर धन ऐंठ रहे हैं।

अभी एक प्लेसमेंट कंपनी के बेरोजगारों के लगभग पांच लाख रुपये लेकर भाग जाने का मामला शांत भी नहीं पड़ा था कि एक नया मामला प्रकाश में आया है। इसमें खाड़ी देशों में नौकरी दिलाने का सब्जबाग दिखाकर लगभग 18 लाख रुपये ठग लिए जाने का मामला प्रकाश में आया है।

जिला गाजियाबाद के ग्राम हृदयपुर निवासी मोहम्मद उमर ने नगर कोतवाली में तहरीर देते हुए बताया है कि लगभग एक साल पहले उसे एक व्यक्ति मिला, जिससे वह पहले से ही परिचित था। उस व्यक्ति ने बताया कि आजकल वह लोगों को सऊदी अरब और कुवैत भेजने का कार्य कर रहा है।

यदि कुछ लड़के बाहर विदेश में भेजने हैं तो वह उन्हें अच्छी तनख्वाह पर भेज सकता है। इस पर उसने गांव के ही तनवीर, जीशान, अरशद अली, गुलजार, नसीम निवासी अकबरपुर, अतहर अली, मजहर अली ग्राम इमलिया, लुकमान ग्राम कुराना और आसिफ ग्राम दरियापुर को विदेश जाने के लिए तैयार कर लिया।

कथित कबूतरबाज के बताए ऑफिस में जाकर मिला। वहां सारी बातें तय हुईं और राजेबाबू पार्क बुलंदशहर में सभी का साक्षात्कार करने की बात कही गई। माह नवंबर में सभी लड़कों को राजेबाबू पार्क में बुलाया गया, जहां चार-पांच लोगों ने उनका इंटरव्यूह कुवैत भेजने के लिए हुआ। सभी से एक-एक लाख रुपये लिए गए और एक माह के अंदर बुलावा भेजने की बात कहकर वह लोग चले गए।

मोहम्मद उमर का कहना है कि लंबा समय बीत जाने के बाद भी न तो बुलावा ही आया और न ही उनके रुपये वापस किए जा रहे हैं। मांगने पर जान से मारने की धमकी दी जा रही है। बताया जा रहा है कि कथित कबूतरबाज ने नौ लड़कों को पहले भी खाड़ी देशों में भेजा गया था, जिनसे एक-एक लाख रुपये वसूले गए। उनमें से किसी की भी नौकरी नहीं लगी और सभी लोग वापस आ गए। मामले की तहरीर पुलिस में दी गई है, लेकिन अभी तक रिपोर्ट दर्ज नहीं हुई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बेरोजगारों के 18 लाख लेकर कबूतरबाज चंपत