class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहारियों ने अपने अधिकारियों को सुनाया दर्द

‘हमारे साथ न्याय नहीं हो रहा। पंजाबियों ने हमें भगा-भगा कर मारा, लेकिन पुलिस ने उन्हें कुछ नहीं कहा। उल्टा उनकी शह पर हम पर जुल्म किया। हम पर डंडे बरसाए, गोलियां चलाईं। डर के मारे हमारे कई लोग इधर-उधर हो गए हैं।’ यह बातें लुधियाना में रह रहे प्रवासी मजदूरों ने लुधियाना के दौरे पर आए बिहार के उच्चधिकारियों के दो सदस्यीय दल के सामने कहीं। बिहार के ज्वाइंट लेबर कमिश्नर आरपी मंडल और डिप्टी लेबर कमिश्नर एके सिंह पर आधारित यह शिष्टमंडल गत शुक्रवार की घटना के मद्देनजर विशेष रूप से यहां आया है।

पुलिस लापरवाही के चलते उग्र प्रदर्शन पर उतारू हुए प्रवासी श्रमिकों की कार्रवाई के बाद के घटनाक्रम को गंभीरता से लेते हुए स्थिति की स्पष्ट जानकारी हासिल करने के लिए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इन अधिकारियों को यहां भेजा है।

यह दल पड़ताल कर रहा है कि आखिर वह कौन से कारण थे, जिससे कि श्रमिक इस कद्र गुस्से में आ गए। स्थानीय प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों के साथ दल के दोनों अधिकारियों ने सोमवार को ढंडारी कलां, लोहारा व अन्य प्रभावित इलाकों का दौरा किया और प्रवासियों से बातचीत की। प्रवासी श्रमिक तो जैसे इसी वक्त का इंतजार कर रहे थे। उन्होंने बिहार से आए इन अधिकारियों के पास अपना दुखड़ा रोते हुए कहा कि यहां उनके साथ बेगानों जैसा सलूक किया जाता है।

बिहार के जिला रोहतास निवासी धंजी प्रसाद, वीरेंद्र यादव, अनिल कुमार आदि ने बताया कि उनसे मारपीट होती है, छीना झपटी होती है, लेकिन पुलिस उनकी नहीं सुनती। उनकी रिपोर्ट तक दर्ज नहीं की जाती। उन्होंने गत शुक्रवार को पुलिस द्वारा की गई फायरिंग के दौरान खाली हुए गोलियों के खोल भी अधिकारियों को दिखाए। साथ ही कहा कि उस दिन स्थानीय लोगों ने भी उन्हें पीटा और पुलिस ने पंजाबियों का ही साथ दिया। उन्होंने बिहार के इन अधिकारियों से अपील की कि वह उनकी सुरक्षा को यकीनी बनाएं।

इसके बाद यह अधिकारी न्यू महादेव नगर भी गए, जहां रविवार रात को बाइकर्स का एक गिरोह पकड़ा गया था। वहां, प्रवासियों ने कहा कि इस मामले में उनके 17 साथियों को पुलिस बिना बात के उठाकर ले गई है। इस तरह के जुल्म उन पर लगातार हो रहे हैं। आरपी मंडल और एके सिंह ने इन सबकी बातों को ध्यान से सुना तथा आश्वासन दिया कि उनकी मुश्किलों का निपटारा किया जाएगा।

इसके बाद इन अधिकारियों ने लुधियाना के डीसी विकास गर्ग, एसडीएम प्रेम चंद व अन्य अधिकारियों के साथ बैठक की, जिसमें सब पहलुओं पर चर्चा की गई। दल ने अधिकारियों से कहा कि प्रवासियों को सुरक्षा व न्याय यकीनी बनाया जाए। डीसी ने उचित कदम उठाने की बात कही। आरपी मंडल व एके सिंह ने बताया बिहार पहुंचकर हालात से संबंधित विस्तृत रिपोर्ट मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को सौंपी जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बिहारियों ने अपने अधिकारियों को सुनाया दर्द