अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मैजिक पैन से लगाते थे बैंक खातों में सेंध, एक पकड़ा

इंदिरापुरम पुलिस ने मैजिक पैन के जरिए लोगों के खाते से रकम गायब करने वाले गिरोह के सदस्य को पकड़कर बड़ी कामयाबी हासिल की है। गिरोह के सदस्य लोगों को क्रेडिट कार्ड बनवाने का झांसा देकर चैक पर मैजिक पैन से रकम व बैंक का नाम लिखवाते थे जिसकी स्याही गर्म बल्ब के पास ले जाते ही उड़ जाती थी। फिर उस चैक को दोबारा से भरकर रकम निकाल लेते थे।


इंदिरापुरम थाना प्रभारी राजेश द्विवेदी ने बताया कि पिछले कुछ दिनों से शिकायत मिल रही थी कि इलाके में क्रेडिट कार्ड बनवाने के नाम पर लोगों को ठगने वाला गिरोह सक्रिय है। इस पर अमल करते हुए पुलिस ने रविवार की शाम खोड़ा स्थित आरके मैमोरियल पब्लिक स्कूल के पास से एक व्यक्ति को हिरासत में लिया जिसने पूछताछ में अपना नाम जितेन्द्र पाल सिंह बताया निवासी दिल्ली बताया।


थाना प्रभारी के मुताबिक जितेन्द्र अपने साथी दीपक चौहान, मनीष चौधरी व उसकी पत्नी डिंपी दत्ता के साथ मिलकर ठगी की वारदातें करता था। मनीष व डिंपी अपने को एचडीएफसी बैंक का एग्जीक्यूटिव बताकर लोगों को फोन कर क्रेडिट कार्ड बनवाने का झांसा देकर तैयार करते थे और उनके घर पंहुच जाते थे।


इसके बाद वह फर्जी छपवाए गए फार्म लोगों से भरवाने के बाद चैक मंगाते थे और रकम व नाम भरने के लिए अपना मैजिक पैन थमा देते थे, चैक भरवाकर वह वापस लौटते और चैक को गर्म बल्ब या आग के नजदीक ले जाते जिससे उसकी स्याही उड़ जाती थी जिसके बाद वह अपने मनमुताबिक रकम भरकर लोगों के खाते से निकाल लेते थे। राजेश द्विवेदी ने बताया कि जितेन्द्र के पास से फर्जी डीएल व अन्य कागजात बरामद हुए हैं। उन्होंने बताया कि मूल रूप से कानपुर के सरोजनी नगर के रहने वाले गिरोह के सदस्य अब तक कई लोगों से ठगी की वारदात कर चुके हैं। पुलिस ने इस गिरोह के चार सदस्यों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मैजिक पैन से लगाते थे बैंक खातों में सेंध