DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

घर बैठे प्रशिक्षुओं को आईटीआई दिलाएगा रोजगार

औद्योगिक शिक्षण से जुड़े यूथ के लिए अब जॉब पाने में परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा। आईटीआई ऐसे बेरोजगारों को बारोजगार करने का बीड़ा उठाया है, जो प्रशिक्षण के बाद घर बैठे हुए हैं। मौजूदा समय में प्रशिक्षण लेने वालों को जॉब मेले का इंतजार नहीं करना होगा। मार्केट में जॉब की स्थिति के बारे में प्रशिक्षु को अपडेट किया जाएगा। आईटीआई फैक्टरी सर्वे कर रहा है। इसका मकसद औद्योगिक नगरी में जॉब की उपलब्धता जानना है। अभी तक दो सौ फैक्टरी का सर्वे किया गया है। इसमें योग्यता के अनुसार प्रशिक्षुओं को जॉब दिलाए जाएंगे। सितंबर में आयोजित जॉब मेले में विभिन्न ट्रेडों के 1403 को जॉब दिलाई गई थी। फरीदाबाद में दो आईटीआई हैं। इसमें प्रशिक्षुओं की संख्या 850 है। कोर्स के बाद अप्रेंटिस के लिए इन्हें काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। नियमित जॉब के साथ अप्रेंटिस की व्यवस्था आईटीआई कराएगा।

सर्वे का उद्देश्य:
जॉब पर रखने जाने वालों के तरीके के बारे में जानना। शहर में करीब तीस हजार छोटे, मंझाेले और बड़े उद्योग हैं। इनमें बड़ी संख्या में गैर प्रशिक्षण को रखा जाता है। सर्वे कर ऐसे फैक्टरी में प्रशिक्षु यूथ को रखने की गुजारिश की जाएगी। ताकि ऐसे यूथ जो बेरोजगार हैं। उन्हें नौकरी मिल सके।

बनेगी कमेटी:
वाइस प्रिंसिपल के नेतृत्व में चार इंस्ट्रुक्टर की कमेटी बनेगी। जो फैक्ट्री में जॉब उपलब्धता की जानकारी को हमेशा अपडेट रखेंगे। इसके बारे में प्रशिक्षुओं को अवगत कराया जाएगा। ऐसे प्रशिक्षु जो आईटीआई पास होने के बाद घर पर बैठे हैं। इच्छुक प्रशिक्षु की मदद कमेटी करेगा।

अजीत सिंह प्रिंसिपल आईटीआई:
कमेटी का स्वरूप प्लेसमेंट सेल जैसा होगा। फैक्टरी डायरेक्ट आईटीआई से प्रशिक्षु भेजे जाएंगे। अभी जॉब मेला के अलावा औसतन दो तीन को जॉब दिलाया जाता है। अब सबकुछ अपडेट होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:घर बैठे प्रशिक्षुओं को आईटीआई दिलाएगा रोजगार