अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मेधावियों के लिए हाईस्कूल के बाद छह साल का बीटेक

आर्थिक कारणों से विज्ञान की पढ़ाई छोड़ने वाले होनहारों को तकनीकी शिक्षा से जोड़ने के लिए भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान (ट्रिपलआईटी) की ओर से तैयार प्रस्ताव को मानव संसाधन विकास मंत्रलय की मंजूरी मिल गई है।

इस प्रस्ताव में ऐसे विद्यार्थियों के लिए बीटेक चार के बजाय छह वर्ष करने की बात कही गई है, जो दसवीं के बाद पढ़ाई छोड़ देते हैं। मंत्रलय से इस प्रस्ताव को ग्रुप ऑफ सेकेट्रीज में भेजा गया है, वहाँ से हरी झंडी मिलने का इंतजार है। संस्थान के निदेशक डॉ. मुरलीधर तिवारी ने सोमवार को संवाददाताओं को यह जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि वर्तमान में बीटेक के मौजूदा चार वर्षीय पाठ्यक्रम से इसका व्यवस्था का कोई सरोकार नहीं है। छह वर्षीय बीटेक के लिए अलग से पाठ्यक्रम निर्धारित किया गया है। इसमें शुरुआती दो साल में 12वीं तक की शिक्षा के साथ ही पर्सनालिटी डेवलपमेंट का भी प्रोग्राम चलाया जाएगा।

छह वर्षीय बीटेक पाठ्यक्रम बीटेक आईटी के साथ ही सिविल इंजीनियरिंग, मैकेनिकल, इलेक्ट्रिकल के लिए भी होगा। इन सभी के लिए अलग-अलग पाठ्यक्रम तैयार किए गए हैं। श्री तिवारी ने बताया कि इस पाठ्यक्रम को बनाने की जरूरत नोबेल लॉरिएट कान्क्लेव के दौरान होने वाले ‘इन्स्पायर’ कार्यक्रम के दौरान महसूस की गई थी।

सूचना एवं प्रौद्योगिकी विभाग ने इस कार्यक्रम में दसवीं विज्ञान विषय के 80 प्रतिशत से अधिक अंक पाने वाले एक प्रतिशत विद्यार्थियों को बुलाने के लिए कहा था। पिछले वर्ष आँकलन किया गया तो ऐसे बच्चों की संख्या 10800 थी जबकि इस वर्ष 10700। इतने विद्यार्थियों को बुला पाना संभव नहीं था इसलिए पहली मेरिट से 600 बच्चों ही बुलाए जा रहे हैं।

श्री तिवारी का कहना है कि 10700 विद्यार्थियों में साढ़े सात हजार शहरी बाकी 3200 ग्रामीण क्षेत्रों के हैं। अध्ययन किया गया तो पता चला कि इनमें से सिर्फ 2000 ही 12वीं में दाखिला ले पाते हैं। आर्थिक कारणों से 12 से 1500 होनहारों की पढ़ाई बाधित हो जाती है। इसे देखते हुए छह वर्षीय पाठ्यक्रम तैयार किया गया है। मंजूरी मिलने के बाद इसे ट्रिपलआईटी के अमेठी परिसर में लागू करने की योजना है क्योंकि वहाँ ग्रामीण इलाकों से जुड़ाव ज्यादा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मेधावियों के लिए हाईस्कूल के बाद छह साल का बीटेक
दूसरा टी-20 अंतरराष्ट्रीय
भारत188/4(20.0)
vs
दक्षिण अफ्रीका189/4(18.4)
दक्षिण अफ्रीका ने भारत को 6 विकटों से हराया
Wed, 21 Feb 2018 09:30 PM IST
दूसरा टी-20 अंतरराष्ट्रीय
भारत188/4(20.0)
vs
दक्षिण अफ्रीका189/4(18.4)
दक्षिण अफ्रीका ने भारत को 6 विकटों से हराया
Wed, 21 Feb 2018 09:30 PM IST
तीसरा टी-20 अंतरराष्ट्रीय
दक्षिण अफ्रीका
vs
भारत
न्यूलैन्ड्स, केपटाउन
Sat, 24 Feb 2018 09:30 PM IST