class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रोडवेज ने उत्तर प्रदेश की कई रूटों से बसें हटाई

उत्तर प्रदेश में पैसेंजर टैक्स बढ़ने का असर गुड़गांव रोडवेज में दिखाई देने लगा हैं। टैक्स में तीन गुणा वृद्वि होने के कारण रोडवेज ने आधा दर्जन रूटों से अपनी सेवाए बंद कर दी है। इस कदम से यात्राियों को नैनीताल, मथुरा और आगरा रूट पर असुविधा बढ़ जाएगी। दूसरी ओर रोडवेज को यूपी में अपनी सेवाए बेहतर करने की योजना को झटका लग सकता हैं।


यूपी सरकार ने अक्तूबर में अधिसूचना जारी कर यात्राी कर टैक्स में तीन गुणा वृद्वि कर दी थी। इससे हरियाणा रोडवेज को यूपी में अब नए टैक्स देने पड़ रहे थे। इससे रोडवेज को कई रूटों पर घाटा उठाना पड़ रहा है। रोडवेज के अनुसार प्रतिदिन तीस-चालीस हजार रूपये का नुकशान हो रहा था। रोडवेज ने  टैक्स में वृद्वि को देखते हुए यूपी की विभिन्न रूटों पर चलने वाली बसों की समीक्षा की गई थी। इसमें बसों से होने वाली इनकम के बारे में ब्योरा तैयार किया गया। इसे देखते हुएरोडवेज ने नैनीताल, बुलंदशहर,अलीगढ और मथुरा रूट से बसें कम कर दी या फिर हटा दी है। इन रूटों पर रोडवेज को घटा हो रहा था। गुड़गांव रोडवेज की यूपी में आगरा रूट पर तीन, हरिद्वार, देहरादून मुरादाबाद रूट पर एक-एक ही बसें चल रही है। जबकि आगरा और अलीगढ़ पर तीन बसें चल रही है। जीएम लाजपत राय ने बताया कि जिन रूटों पर रोडवेज को नुकशान हो रहा था उस रूट से बसें हटा ली गई है। इन रूटों पर बस चलाने के बारे में कोई निर्णय बाद में लिया जाएगा।  


ज्ञात हो कि यूपी व राजस्थान और अन्य राज्यों के बीच यातायात समझौता होने के बाद हरियाणा रोडवेज का यूपी की विभिन्न रूटों पर बसों की संख्या बढ़ाना की योजना है। रोडवेज को नई बसों का इंतजार है। क्यों कि यूपी की रूटों पर रोडवेज की बसें नाम मात्र की चल रही है। आधा दजर्न रूटों से बसें कम होने से यात्राियों की मुश्किलें और बढ़ जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रोडवेज ने उत्तर प्रदेश की कई रूटों से बसें हटाई