DA Image
1 अक्तूबर, 2020|7:17|IST

अगली स्टोरी

पीड़ित लोकेशन बताता रहा,पुलिस गुमराह करती रही

शुक्रवार की रात को एमिटी के पास से ट्राला लूट के बाद पुलिस की सुस्ती व लापरवाही साफ नजर आ रही है। घटना के बाद पुलिस को जानकारी मिलते ही न तो ट्राला मालिक से जीपीएस के लोकेशन के बारे में पूछा और न ही इस बारे में कोई तहकीकात किया। अलबत्ता अपनी कार्य कुशलता को दिखाने के लिए लैपटॉप, चेतक, इनोवा पर व्यस्त रहे। घटना के तुरंत बाद ट्राला मालिक ट्राला का लोकेशन नोट करते रहे।


शुक्रवार की रात लूट होने के बाद ट्राला में लगे जीपीएस सिस्टम के आधार पर ट्राला मालिक सरबजीत सिंह निज्जर ने लास्ट लाकेशन दिल्ली कैंट पाया। जानकारी के बाद वह जब कोतवाली सेक्टर-39 पहुंचे और लोकेशन बताना चाहा तो किसी भी पुलिसकर्मी ने दिलचस्पी दिखाई। बताया जाता है कि अगर इस लोकेशन पर पुलिस अगर ध्यान देती तो ट्राला पकड़ लिया जाता। बताया जाता है कि दो बजे रात को लूट होने के बाद तीन बजे रात को लोकेशन दिल्ली कैंट बताया। यह रास्ता भाया दिल्ली हरियाणा की तरफ जाती है। एक घंटे की लोकेशन पर अगर नोएडा पुलिस दिल्ली कैंट पुलिस को जलानकारी दे देती ट्राला पकड़ में आ जाता। घटना के अगले दिन बाद भले ही हरियाणा के कई जिलों में पुलिस टीम भेजी गई।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:पीड़ित लोकेशन बताता रहा,पुलिस गुमराह करती रही