अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूपी बोर्ड की हाईस्कूल-इण्टरमीडिएट की परीक्षाएँ चार मार्च से

यूपी बोर्ड की हाईस्कूल और इण्टरमीडिएट की परीक्षाएँ चार मार्च 2010 से करीब आठ हजार सेण्टरों पर शुरू होंगी। हाईस्कूल की परीक्षाएँ छह अप्रैल और इण्टरमीडिएट की परीक्षाएँ 10 अप्रैल को पूरी होंगी। हाईस्कूल की परीक्षाएँ 23 दिनों और इण्टरमीडिएट की परीक्षाएँ 27 दिन चलेंगी। हाईस्कूल की परीक्षाएँ पूर्व की भाँति पहली पाली में और इण्टरमीडिएट की परीक्षाएँ दोनों पालियों में होंगी। यूपी बोर्ड के परीक्षा कार्यक्रमों की घोषणा सचिव प्रभा त्रिपाठी ने सोमवार को बोर्ड मुख्यालय इलाहाबाद में की।

उन्होंने बताया कि इस बार परीक्षा केन्द्रों पर मोबाइल पूरी तरह से प्रतिबंधित रहेगा। अगर किसी भी परीक्षा केन्द्र के अन्दर मोबाइल पाया जाता है तो संबंधित छात्र, केंद्र निरीक्षक और केंद्र व्यवस्थापक सभी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई जाएगी। गतवर्ष की अपेक्षा यूपी बोर्ड की परीक्षाएँ इस बार दो दिन विलम्ब से शुरू हो रही हैं। पिछली बार बोर्ड की परीक्षाएँ दो मार्च से शुरू हुई थी।

सचिव ने बताया कि इस बार हाईस्कूल की परीक्षा में कुल 3630292 परीक्षार्थी शामिल हो रहे हैं। इनमें संस्थागत 3365164 और व्यक्तिगत 265128 परीक्षार्थी हैं। संस्थागत बालक वर्ग में 1973682 और बालिका वर्ग में 1391482 है। इसी प्रकार से बालक व्यक्तिगत वर्ग में 188761 और बालिका वर्ग में 76367 परीक्षार्थी हैं। उधर, इण्टरमीडिएट में कुल 1530493 परीक्षार्थी शामिल हो रहे हैं। इनमें संस्थागत 1361428 और व्यक्तिगत 169065 परीक्षार्थी हैं।

जिनमें से संस्थागत बालक 754260 और बालिकाएँ 607168 हैं। व्यक्तिगत बालक परीक्षार्थियों की संख्या 121615 और बालिकाओं की संख्या 47450 है। कुल मिलाकर इस बार 51 लाख 60 हजार 785 छात्र-छात्रएँ परीक्षा में शामिल होंगे।

उन्होंने बताया कि इस वर्ष हाईस्कूल के पंजीकृत परीक्षार्थियों की संख्या में 292613 की वृद्धि हुई है, जबकि इण्टरमीडिएट के परीक्षार्थियों की संख्या में 592286 की कमी हुई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:यूपी बोर्ड की हाईस्कूल-इण्टरमीडिएट की परीक्षाएँ चार मार्च से