DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गुजरे जमाने की फिल्मों को पर्दे पर उतारने की ख्वाहिश

गुजरे जमाने की फिल्मों को पर्दे पर उतारने की ख्वाहिश

गुजरे जमाने की सदाबहार फिल्मों की कहानियां आज भी बालीवुड के फिल्मकारों को आकर्षित कर रही है और अब इनका इरादा प्यासा, कागज के फूल, चश्म ए बद्दूर, चुपके चुपके जैसी जीवंत पटकथाओं को नये कलेवर और रूप में पर्दे पर उतारने की है।

बालीवुड सुपरस्टार आमिर खान ने गुरूदत्त की अदभुत कति प्यासा के रीमेक में काम करने की इच्छा व्यक्त की है, वहीं रितुपर्णों घोष की कागज के फूल को फिर से पर्दे पर उतारने की योजना है। फिल्मकार राकेश ओम प्रकाश मेहरा ने प्यासा को नये कलेवर में दोबारा रूपहले पर्दे पर पेश करने की योजना बनाई है। इस संबंध में पूछे जाने पर मेहरा ने भाषा से कहा यह अभी परिकल्पना के स्तर पर है। इस विषय पर अभी काम आगे नहीं बढ़ा है।

उल्लेखनीय है कि इस फिल्म में गुरूदत्त की भूमिका सुपर स्टार आमिर खान और वहीदा रहमान का किरदार कैटरीना कैफ के निभाने का जिक्र सामने आया है। दिल्ली में एक समारोह में हिस्सा लेने आए आमिर खान ने प्यासा के रीमेक के बारे में पूछे जाने पर कहा मेरी पसंदीदा फिल्म प्यासा है और अगर इसकी रीमेक बनती है तो निश्चित तौर पर मैं उसमें काम करूंगा। उन्होंने कहा राजकुमार और प्रिया राजवंश की फिल्म हीर रांझा के रीमेक पर भी मैं काम करना चाहूंगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गुजरे जमाने की फिल्मों को पर्दे पर उतारने की ख्वाहिश