class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डिजिटल लाइफ, फैशन ऑनलाइन

डिजिटल लाइफ, फैशन ऑनलाइन

जहां डिजाइनर फैशन शो के माध्यम से अपने कलेक्शन को पेश करते हैं और साथ ही अपने शोरूम को अंतरराष्ट्रीय स्तर का बनाने की कोशिश करते हैं, वहीं वे अपनी वेबसाइट को भी दुरुस्त करने में जुटे रहते हैं। क्यों? कारण स्पष्ट लग रहा है। साथ ही अपने ब्रांड की अच्छी तस्वीर पेश करने में भी उन्हें इसके माध्यम से काफी मदद मिल
रही है। आम लोगों में ई-शॉपिंग की बढ़ती लोकप्रियता के कारण भी ऐसी वेबसाइटों की उपयोगिता बढ़ गई है। 

फैशन के ऑनलाइन कारोबार की लोकप्रियता का ही परिणाम है कि अभी भी ऑनलाइन खरीदारी में सबसे अधिक भागीदारी पोशाकों और संबंधित एक्सेसरीज की ही होती है। इसी से फैशन की दुनिया में इसकी महत्ता का अनुमान लगाया जा सकता है। वैसे तो पोशाकों की ऑनलाइन शॉपिंग हमेशा चलती रहती है, पर अक्टूबर-नवंबर के महीनों में यानी त्योहारो के मौसम में ई-शॉपिंग में काफी वृद्धि हो जाती है। ऑनलाइन शॉपिंग में रेडिमेड गारमेंट्स की खरीदारी का प्रतिशत सबसे अधिक है। स्वाभाविक है कि इन आंकड़ों को तमाम फैशन ब्रांड्स और डिजाइनर भी खूब समझते हैं और ऐसे में भला खुद को ई-शॉपिंग से दूर कैसे रख सकते हैं।

यदि बात सिर्फ ब्रांड की मार्केटिंग की करें तो कोई शक नहीं कि इंटरनेट के इस जमाने में वेबसाइट इसका एक सशक्त माध्यम है। अगर बात डिजाइनरों की करें तो निश्चय ही वेबसाइट की मदद से उनकी पहुंच ग्राहकों के एक बड़े वर्ग तक तो हो ही जाती है, जिनके लिए आउटलेट तक पहुंचना दूरी या अन्य कारणों से आसान नहीं होता। यही वजह है कि लगभग सभी फैशन डिजाइनरों की वेबसाइट्स हैं, जिन्हें बिल्कुल अप-टु-डेट रखने की पूरी कोशिश की जाती है, क्योंकि उन्हें पता है कि फैशनेबल ग्राहक उनकी वेबसाइट पर नजर जरूर रखते हैं।

फैशन ब्रांड्स या डिजाइनरों की वेबसाइट पर न सिर्फ उनके और उनके कारोबार की पूरी जानकारी उपलब्ध होती है, बल्कि उनके लेटेस्ट क्रिएशंस के बारे में भी विस्तार से जानकारी दी गई होती है। ऐसे में खरीदारी चाहे उनके शोरूम से जाकर की जाए या ई-शॉपिंग के माध्यम से, ड्रेस के चयन में इंटरनेट के माध्यम से काफी सहूलियत हो जाती है। ‘डिजाइनरों की वेबसाइट पर उनके लेटेस्ट कलेक्शन के बारे में पूरी जानकारी होती है। बाजार जाकर इतना पता लगाने में ही पूरा दिन निकल जाए। इसीलिए जब भी मुझे पोशाकों की खरीदारी करनी होती है, एक नजर वेबसाइटों पर जरूर डालती हूं।’ कहती हैं छवि, जो पेशे से डॉक्टर हैं। इसके अलावा कीमत का भी पता चल जाने से घर बैठे ही शॉपिंग की पूरी प्लानिंग आसान हो जाती है। ऐसे में गारमेंट्स की खरीदारी से लेकर कारोबार के विस्तार तक के लिए ई-शॉपिंग की लोकप्रियता स्वाभाविक है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:डिजिटल लाइफ, फैशन ऑनलाइन