class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एमएलसी चुनाव में आमने-सामने होंगे भाजपा-रालोद

भाजपा और रालोद का गठबंधन में दरार राजनाथ और अजित सिंह के गढ़ में पड़ेगी। एमएलसी चुनाव को लेकर दोनों पार्टियां आमने-सामने दम तोड़ रही हैं। बदले हालात में रालोद सपा की तरफ कदम बढ़ा है और भाजपा एकला चलो की नीति पर है।


लोकसभा चुनाव में राजनाथ सिंह और अजित सिंह ने एक मंच से एकता का ऐलान किया था, लेकिन यह एकता साल भर नहीं चल पाई। विधान परिषद चुनाव की चौसर पर दोनों दल आमने-सामने हैं। इस चुनाव में उनके बीच पैक्ट नहीं होगा। भाजपा मुरादनगर से कविता चौधरी को मैदान में उतार चुकी है। बुलंदशहर से श्रीचंद और गाजियाबाद से सुरेश गुप्ता का नाम लगभग फाइनल हो चुका है।

उधर लोकदल भी गाजियाबाद से सूदन रावत का नाम तय कर चुका है। बुलंदशहर में वे सपा से बात कर रहे हैं। टिकट की दौड़ में शामिल नेता अभी गठबंधन की बात कर रहे हैं, लेकिन हालात से साफ है कि इस चुनाव में वे आमने सामने होंगे। भाजपा की वेस्ट यूपी अध्यक्ष लज्जारानी गर्ग कहती हैं कि गाजियाबाद और बुलंदशहर के प्रत्याशियों की घोषणा जल्द कर दी जाएगी। भाजपा अपने दम पर यह चुनाव लड़ेगी। उधर रालोद के वेस्ट यूपी अध्यक्ष सत्यवीर त्यागी कहते हैं कि चौधरी अजित सिंह बुलंदशहर और गाजियाबाद से प्रत्याशी घोषित कर चुके हैं और ये चुनाव की तैयारी में लगे हैं। साफ है कि एनडीए के साथियों की राहें जुदा-जुदा हैं। इससे पहले फिरोजाबाद उपचुनाव में चौधरी जयंत सिंह सपा के मंच पर जा चुके हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एमएलसी चुनाव में आमने-सामने होंगे भाजपा-रालोद