class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पलवल शूगर मिल में पिराई को लेकर तैयारियां पूरी

शूगर मिल पलवल में गन्ने की पिराई को लेकर तैयारियां पूरी कर ली गई हैं।10 दिसंबर से मिल में पिराई का काम शुरू होगा। किसानों की सहुलियत को देखते हुए पलवल व फरीदाबाद के 11 गांवों में गन्ने का वजन करने के लिए पांच टन के कांटे लगाए गए हैं।


मिल प्रबंधन के मुताबिक फाउंडेशन बनाकर जहां कांटे लगाए जा चुके हैं। वहां गन्ने की आवक को लेकर कांटों के समीप जगह की व्यवस्था कर ली गई है। कांटे पर किसान गन्ना की फसल तोलकर बेच सकेंगे। यहां एकत्रित किए गए गन्ने को ट्रकों से पलवल शूगर मिल तक पहुंचाया जाएगा। इसके लिए ट्रांसपोर्ट की व्यवस्था कर ली गई है। अलग-अलग पांच ट्रांसपोर्टरों को इसका टेंडर छोड़ दिया गया है।
पलवल क्षेत्र में गन्ने का उत्पादन कम होने से इस बार पलवल शूगर मिल मुश्किल से 45 दिन चलने की उम्मीद है। जबकि गत वर्ष यह मिल 67 दिन चली थी। मिल में मशीनों की सर्विस का काम भी लगभग पूरा कर लिया गया है। पलवल शूगर मिल के कैन मैनेजर केएस ढाका : रूट वाइज ट्रांसपोर्ट की व्यवस्था कर ली गई है। इसके टेंडर छोड़ दिए गए हैं। संभवत: मिल का उद्घाटन पलवल के जिला उपायुक्त करेंगे। इसकी प्लॉनिंग तैयार की जा रही है।
---------------
इन गांवों मेंलगाए गए हैं कांटे
दयालपुर, मौजपुर, बुखारपुर, नरियाला, छांयसा, अमरपुर, लिखी, खांबी, घोड़ी, भैंडोली समेत 11 गांवों में कांटे लगाए गए हैं।
खास बातें
-1500 किसान देंगे मिल को गन्ना
-6 से 7 लाख क्विंटल गन्ना के आवक की उम्मीद
-मिल की प्रतिदिन गन्ना पिराई की क्षमता 17 हजार क्विंटल
-मिल का उद्घाटन 10 को

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पलवल शूगर मिल में पिराई को लेकर तैयारियां पूरी