DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

निजी कंपनियों के बढ़ते प्रभाव से सचेत कराया

संचार निगम के एक्सक्यूटिव एसोसिएशन के महासचिव जेएल गेरा ने कहा है कि बीएसएनएल कर्मियों को बेहतर रिजल्ट देना होगा। इसके आधार पर ही उनकी पद्दोन्नित और तबादला निर्भर है। बेहतर प्र्दशन नहीं करने पर आने वाले दिनों में निजी टेलिकाम कंपनियां बाजार पर हावी हो जाएंगी। यह समय संचार निगम के लिए संकट का होगा।
 वह शनिवार को गोल्फ कल्ब में आयोजित सीईसी मीट एंड ओपेन सेसन में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि निगम में जानकार लोगों की कमी नहीं। लेकिन वे अपनी जिम्मेदारियों से भागते हैं। इसका दूुष्परिणाम सामने आने लगा है। इसके चलते ही एक निजी कंपनी को बीएसएनएल की योजनाएं तैयार करने का काम दे दिया गया है। इसके लिए कंपनी के 20 अभियंता लगाए गए हैं। जबकि निगम में कई अनुभवी अभियंता मौजूद हैं। उनका आरोप है कि बीएसएनएल की योजनाओं को असफल बनाने में निगम के कई वरिष्ठ अधिकारियों की अहम भूमिका है। आज तक किसी भी अधिकारी ने उपभोक्ताओं की समस्या जानने की कोशिश नहीं की। जबकि विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों को सभी सुविधाएं मिल रहीं है।


उन्होंने केंद्र सरकार पर कटाक्ष करते हुए कहा कि चाइनीज मोबाइल को बंद किया जा रहा है। जबकि बीएसएनएल तीन चार गुणा अधिक मुल्य पर एक निजी कंपनी से मोबाइल खरीद रहा है। इस मौके एसोसिएशन के प्रधान रमेंश कुमार, पीके श्रीवास्तव, एके गुप्ता आदि मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:निजी कंपनियों के बढ़ते प्रभाव से सचेत कराया