अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दो अधिकारी अफसर लुधियाना भेजे गए

बिहार के दो अधिकारी लुधियाना रवाना हो गये हैं। वे वहां बिहारी मजदूरों के साथ हुई हिंसक घटना की अद्यतन स्थिति की जानकारी लेंगे। संयुक्त श्रमायुक्त राजेन्द्र प्रसाद और उपश्रमायुक्त अमरकांत सिंह पूरे मामले की तहकीकात करेंगे। वहीं दिल्ली स्थित प्रदेश के श्रम संसाधन विभाग के अधिकारी पूरी घटना पर पहले से ही निगाह रखे हुए हैं। वे पंजाब सरकार के वरीय अधिकारियों से लगातार संपर्क बनाये हुए हैं। उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि लुधियाना की घटना दुर्भाग्यपूर्ण है पर वहां के हालात दूसरे हैं। घटना के लिए पंजाब पुलिस की निष्क्रियता पूरी तरह से जिम्मेवार है। पंजाब सरकार को इन दोषी अधिकारियों पर कठोर कार्रवाई करनी चाहिए। उन्होंन ेबताया कि गलत बर्ताव के दोषी एक थानेदार को निलम्बित किया गया है। पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने कहा है कि किसी भी सूरत में बिहारी मजदूरों के साथ अन्याय नहीं होने दिया जाएगा।

मोदी ने कहा कि पूरा मामला लोकल है। वहां के लोग बिहार के खिलाफ नहीं है। वहां की पुलिस ने बिहारी मजदूरों की समस्याएं नहीं सुनी। एफआईआर लेने से इंकार कर दिया। इससे बिहार मजदूरों में काफी आक्रोश था। वहीं आक्रोश सामने आया जिसके कारण मामला गंभीर हुआ। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार लुधियाना की घटना की पल-पल जानकारी ले रही है। लुधियाना में काम रहे लोगों से भी अपील है कि वे माहौल को नियंत्रित करने में सहयोग करें। उन्होने कहा कि पंजाब की कृषि और उद्योग दोनों बिहारी मजदूरों के भरोसे है।  वहां के व्यवसायियों ने भी आह्वान किया है कि बिहारी मजदूरों के बिना उद्योग धंधे चौपट हो जाएंगे। स्थिति तुरंत ठीक की जाए। वे बिहारियों का स्वागत करने को हमेशा तैयार रहते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दो अधिकारी अफसर लुधियाना भेजे गए