class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अफगानिस्तान की बजाए रोजगार मोर्चे पर लड़ाई ज्यादा अहम: ओबामा

अफगानिस्तान की बजाए रोजगार मोर्चे पर लड़ाई ज्यादा अहम: ओबामा

अमेरिका में बेरोजगारी के बढ़ते आंकडों के बीच राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा है कि अफगानिस्तान की बजाए रोजगार के मोर्चे पर लड़ाई ज्यादा अहम हो गई है।

अमेरिका में अक्टूबर माह में बेरोजगारी के आंकडे 26 सालों के रिकार्ड स्तर 10.2 प्रतिशत तक पहुंचने से ओबामा की पेशानी पर बल पड़ने लगे हैं। उनकी लोकप्रियता का ग्राफ लगातर नीचे जा रहा है। हालात की नजाकत को समझते हुए उन्होंने इस समस्या का हल तलाशने के लिए व्यवसाय क्षेत्र के प्रतिनिधियों की एक बैठक व्हाइट हाउस में बुलाई है पर ओबामा के आलोचक इसे महज एक जनसंपर्क अभियान बता रहे हैं। उनका कहना है कि यह बैठक नीतियों पर विचार करने की बजाए राजनीति पर ज्यादा केन्द्रित होगी।

ऐसा माना जा रहा है कि ओबामा इस बैठक में आर्थिक संकट और बेरोजगारी से निबटने के लिए निजी क्षेत्र की मदद की संभावनाओं पर गौर कर सकते हैं। व्हाइट हाउस की आर्थिक सलाहकार परिषद की अध्यक्ष क्रिस्टीना रोमर के मुताबिक ऐसे समय में जबकि उत्पादन बढ़ने के बावजूद नियोक्ता नई भर्तियां करने से कतरा रहे हैं हमें रोजगार के अवसरों के लिए निजी क्षेत्र का रूख करना पड़ेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अफगानिस्तान की बजाए रोजगार मोर्चे पर लड़ाई ज्यादा अहम: ओबामा