class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हमला शांति प्रक्रिया को पटरी से उतारने की कोशिशः चिदंबरम

हमला शांति प्रक्रिया को पटरी से उतारने की कोशिशः चिदंबरम

हुर्रियत नेता फजल हक कुरैशी पर हमले को कायराना कार्रवाई करार देते हुए गृह मंत्री पी चिदंबरम ने कहा कि केंद्र सरकार कश्मीर मुद्दे को सभी राजनीतिक विचारधाराओं के लोगों के साथ बातचीत के जरिए हल करने के लिए प्रतिबद्ध है।

चिदंबरम ने कहा कि कुरैशी पर हमले से वह व्यथित हैं। हुर्रियत नेता कुरैशी पर शुक्रवार को उग्रवादियों ने हमला कर दिया था, जिसमें वह गंभीर रूप से घायल हो गए थे। कुरैशी गंभीर हालत में अस्पताल में हैं।

हमलावरों की भर्त्सना करते हुए केंद्रीय मंत्री ने जारी एक बयान में कहा कि ये वही तत्व हैं, जो पहले भी जम्मू-कश्मीर को संकट में धकेल चुके हैं। यह भी स्पष्ट है कि ऐसे तत्व भारत के विरोधियों की शह पर काम कर रहे हैं।

चिदंबरम ने इस हमले को कायराना बताते हुए कहा कि इसके पीछे उन लोगों का हाथ है, जो नहीं चाहते कि जम्मू-कश्मीर की समस्या का समाधान बातचीत के जरिए हो।

गृहमंत्री ने कहा कि इन हालात का सही जवाब यह नहीं है कि इन हिंसक गतिविधियों के सामने घुटने टेक दिए जाएं या डरकर बातचीत की प्रक्रिया को रोक दिया जाए।

गृह मंत्री ने कहा कि मैं जम्मू-कश्मीर के लोगों को आश्वस्त करता हूं कि हम समस्या का समाधान राज्य के सभी राजनीतिक विचाराधाराओं के लोगों के साथ बातचीत के जरिए करने के लिए प्रतिबद्ध हूं।

चिदंबरम ने कहा कि मेरी तथा शांति चाहने वाले प्रत्येक व्यक्ति की दुआएं उनके और उनके परिवार के साथ है। हम आशा करते हैं कि वह शीघ्र ही स्वस्थ हो जाएंगे।

गृह मंत्री ने कहा कि हुर्रियत नेता मीरवाइज उमर फारूक और उन सबके बयान पढ़ कर मुझे बड़ी खुशी है, जिन्होंने कश्मीर मुद्दे का समाधान केंद्र के साथ बातचीत के जरिए करने की प्रतिबद्धता जताई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हमला शांति प्रक्रिया को पटरी से उतारने की कोशिशः चिदंबरम