class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हुर्रियत नेता कुरैशी की हालत स्थिर, बंद

हुर्रियत नेता कुरैशी की हालत स्थिर, बंद

वरिष्ठ हुर्रियत नेता फजल हक कुरैशी पर हमले की गृह मंत्री पी चिदंबरम ने निंदा की है। उन्होंने कहा है कि सरकार राज्य में शांति स्थापना के लिए प्रतिबद्ध है।

हुर्रियत कांफ्रेंस के उदारवादी गुट के प्रमुख मीरवाइज उमर फारुख ने कहा है कि यह शांति प्रक्रिया को बाधित करने के लिए उग्रवादियों की कार्रवाई है। उन्होंने इसकी घोर निंदा करते हुए कहा कि हम इसके आगे नहीं झुकेंगे।

हमले के विरोध में उन्होंने जम्मू-कश्मीर बंद का आह्वान किया है। राज्य में तनाव की स्थिति बनी हुई है। सुरक्षा बलों को किसी भी अप्रिय घटना से निपटने के लिए अलर्ट कर दिया गया है।


उधर श्रीनगर में अज्ञात हमलावरों की गोलीबारी में गंभीर रूप से घायल हुर्रियत कांफ्रेंस के वरिष्ठ नेता फजल हक कुरैशी की हालत स्थिर है लेकिन वह अभी खतरे से बाहर नहीं हैं।

कुरैशी के एक नजदीकी रिश्तेदार तारिक अंदराबी ने बताया कि शुक्रवार रात उनका ऑपरेशन 11.30 बजे तक चला और चिकित्सकों ने कहा कि उनकी हालत स्थिर है, लेकिन नाजुक बनी हुई है।

कुरैशी को शेर-ए-कश्मीर मेडिकल इंस्टीट्यूट सौरा (एसकेआईएमएस) के गहन चिकित्सा कक्ष (आईसीयू) में भर्ती करवाया गया, जहां सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं और कुरैशी के नजदीकी रिश्तेदारों के अलावा किसी को उनसे मिलने की अनुमति नहीं दी गई है।

चिकित्सकों ने शुक्रवार को कहा था कि कुरैशी के सिर में गोली लगी थी।

उल्लेखनीय है कि कुरैशी मीरवाइज उमर फारुख के नेतृत्व वाले हुर्रियत कांफ्रेंस के उदारवादी गुट के वरिष्ठ नेता हैं। उन्हें कश्मीर मामले पर वार्ता प्रक्रिया का समर्थक माना जाता है।

कुरैशी को शुक्रवार शाम चार अज्ञात लोगों ने उनके घर से बाहर समीप से गोली मार दी थी। इस हमले को केंद्र सरकार और अलगाववादियों के बीच जारी वार्ता को बाधित करने के प्रयास के रूप में देखा जा रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हुर्रियत नेता कुरैशी की हालत स्थिर, बंद