class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हम ते चले परदेस..

वेस्ट यूपी के वाशिंदे विदेश उड़ान की तैयारी में हैं। इस साल मात्र ग्यारह माह में एक लाख से अधिक पासपोर्ट बन गए हैं। मेरठ, आगरा, अलीगढ़, सहारनपुर मंडल के लोग जमकर पासपोर्ट बनवा रहे हैं। एक लाख से अधिक पासपोर्ट बनने से गाजियाबाद पासपोर्ट ऑफिस ए ग्रेड में शामिल हो गया है।

शुगर बाउल वेस्ट यूपी के निवासी विदेश जाने की तैयारी में हैं। बीते सालों में रोजगार, पढ़ाई, व्यवसाय और पर्यटन को लेकर क्रेज बढ़ा है। गाजियाबाद पासपोर्ट ऑफिस के पास 12 जनपद हैं। इस साल पासपोर्ट का आंकड़ा पहली बार एक लाख को पार कर गया है। गाजियाबाद पासपोर्ट कार्यालय ए ग्रेड में शामिल हो गया।

लखनऊ पासपोर्ट ऑफिस के पास चालीस से ज्यादा जिले हैं, तब वह ए ग्रेड में है। उधर, गाजियाबाद मात्र 12 जनपदों के सहारे इस श्रेणी में शामिल हो गया है। पासपोर्ट अधिकारी अमरेंद्र कुमार सेंगर ने बताया कि तीन दिसंबर तक 101890 पासपोर्ट बने हैं। साल के अंत तक यह आंकड़ा बढ़ा जाएगा।

दस हजार से अधिक पासपोर्ट तत्काल सेवा में बढ़ाए गए हैं। उन्होंने बताया कि पासपोर्ट बनवाने वालों में युवाओं की संख्या अधिक है। ए ग्रेड में शामिल होने के बाद पासपोर्ट ऑफिस में स्टाफ और दूसरी सुविधाओं को बढ़ाया जाता है। ऐसे में जिले से पासपोर्ट बनना और आसान हो जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हम ते चले परदेस..