class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लोन का प्रीपेमेंट

अगर आप लोन के प्रीपेमेंट के बारे में सोच रहे हैं तो उसके पहले कुछ बातों पर विचार कर लेना चाहिए।

- अगर आपने किसी ऐसी जगह पैसे को लॉक कर रखा है जहां आपको रिटर्न कम मिलेगा या फिर आप लिए गए लोन के एवज में जितना ब्याज चुका रहे हैं और वह काफी अधिक है। ऐसे में बेहतर फैसला यही होगा कि आप उस पैसे के द्वारा अपना लोन चुका दें।

- अगर आपको कई ऐसे कर्ज चुकाने हैं जहां आपको होम लोन की तुलना में ज्यादा ब्याज देना पड़ रहा है जैसे क्रेडिट कार्ड का बिल या पर्सनल लोन तो समझदारी भरा निर्णय यही होगा कि आप पहले उन भारी-भरकम कर्जों को निपटा लें।

- अगर आपने दीर्घावधि के लिए लोन ले रखा है और इतने लंबे अंतराल में आपको इसके लिए ज्यादा ब्याज अदा करना पड़ रहा है तो बेहतर यह होगा कि आप लोन चुका दें।

- अगर आप पूरी लोन की राशि एक साथ नहीं दे सकते हैं तो आप लोन के कुछ हिस्से को चुका दें। इससे आपका प्रिंसिपल अमाउंट कम हो जाएगा।

- लोन चुकाने से पहले एक बात देखनी जरूरी है कि क्या आपके पास भविष्य की जरूरतों को पूरा करने के लिए पर्याप्त बचत है या फिर आकस्मिक आपदा से निपटने के लिए पर्याप्त पैसा है या नहीं क्योंकि ऐसी परिस्थिति में आपको किसी से उधार मांगना पड़ सकता है।

- पार्ट पेमेंट ऑप्शन का इस्तेमाल करते वक्त इस बात का पता जरूर कर लीजिए कि कहीं बैंक इसके लिए कोई पैनल्टी तो नहीं ले रहा। प्रीपेमेंट पैनल्टी का लेना या न लेना बैंक पर निर्भर करता है, अगर आपकी क्रेडिट हिस्ट्री अच्छी है, तो बैंक इसे प्राय: नहीं लेते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लोन का प्रीपेमेंट