class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाक में मस्जिद पर हमले में 40 मरे, 83 घायल

पाक में मस्जिद पर हमले में 40 मरे, 83 घायल

रावलपिंडी में पाकिस्तान के सैन्य मुख्यालय के निकट एक मस्जिद में आत्मघाती हमलावरों के शुक्रवार को जुमे के दिन सैकड़ों नमाजियों पर अंधाधुंध गोलीबारी करने और ग्रेनेड दागने से सेना के एक मेजर जनरल समेत कम से कम 40 लोगों की मौत हो गई और 83 अन्य घायल हो गए।

हमले के बाद हमलावरों ने खुद को भी विस्फोट से उड़ा लिया। इस हमले में मेजर जनरल समेत आठ अन्य सैन्य अधिकारी भी मारे गए हैं जिनमें एक ब्रिगेडियर, दो लेफ्टिनेंट कर्नल और दो मेजर शामिल हैं।
   
आतंकवादी परेड लेन के निकट स्थित जामिया मस्जिद में सीढिम्यों के सहारे दाखिल हुए और नमाजियों पर ग्रेनेड दागे तथा अंधाधुंध गोलीबारी की। मारे गए लोगों में 10 बच्चों तथा 10 अन्य आम नागरिक थे जो अत्यधिक सुरक्षा वाले सैन्य मुख्यालय के निकट स्थित इस मस्जिद पर जुमे की नमाज के लिये इकटठा हुए थे। हमलावरों और मस्जिद के सुरक्षाकर्मियों के बीच गोलीबारी भी हुई।

हमले में संलिप्त आतंकवादियों की कुल संख्या के बारे में असमंजस है। कुछ प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा कि मस्जिद में सात से आठ बंदूकधारियों ने प्रवेश किया, जबकि पुलिस और सैन्य अधिकारियों का कहना है कि हमलावरों की संख्या पांच से छह थी।

सेना ने कहा कि कम से कम चार हमलावरों ने या तो खुद को विस्फोट से उड़ा लिया या उन्हें सुरक्षा बलों ने मार गिराया। वहीं, आधिकारिक सूत्रों के हवाले से टीवी चैनलों ने कहा कि दो आतंकवादियों ने मस्जिद के अंदर खुद को विस्फोट से उड़ा लिया।
   
क्षेत्रीय पुलिस अधिकारी असलम तरीन ने कहा कि हमले में 40 लोगों की मौत हुई है और 83 अन्य घायल हुए हैं। अशांत मोहमंद कबाइली क्षेत्र में नागरिकों को ले जा रही एक बस पर हमले में कम से कम छह लोगों की मौत होने और पांच अन्य के घायल होने के कुछ ही देर बाद यह हमला हुआ।

सुरक्षा बलों और विशिष्ट सैन्य कमांडो ने शेष हमलावरों की तलाश में अभियान छेड़ दिया है। माना जा रहा है कि ये हमलावर आसपास के रिहाइशी इलाकों में छिप गये हैं। हमला स्थानीय समयानुसार दोपहर दो बजे से पहले हुआ। प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा कि अज्ञात हमलावरों ने मस्जिद में घुसने के बाद ग्रेनेड दागे और अंधाधुंध गोलियां चलायीं। गोलीबारी के बाद शक्तिशाली विस्फोट भी हुए। हमले के समय मस्जिद में सैकड़ों नमाजी मौजूद थे। यहां अक्सर सैन्यकर्मी आते हैं।

एक प्रत्यक्षदर्शी कैप्टन (सेवानिवृत्त) अमीरूददीन शेख ने कहा कि हमला काफी सुनियोजित था। बेशक, यह सोच-समझ कर किया गया हमला था और वे अपनी साजिश के अनुसार ही आगे बढ़े। वे कत्लेआम करने और खुद मरने आये थे। उन्होंने कहा कि हमलावरों ने सलवार कमीज पहन रखी थी। इस हमले से मस्जिद का एक हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया। मस्जिद में कई एंबुलेंस जाती देखी गयीं।

इस तरह की भी खबरें हैं कि बंदूकधारियों ने मस्जिद के अंदर कुछ लोगों को बंधक बना लिया था। बहरहाल, इन खबरों की तुरंत पुष्टि नहीं हो सकी। किसी भी समूह ने हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है। देश में हालिया हमलों के लिये तालिबान को जिम्मेदार ठहराया जाता है।

सुरक्षा बलों को निशाना बनाकर होने वाले इन हमलों में अनेक लोगों की मौत हुई है। शुक्रवार का हमला उस संवेदनशील क्षेत्र में हुआ है जहां सैन्य अस्पताल और पुलिस कार्यालय स्थित हैं। गत अक्टूबर में यहां सैन्य मुख्यालय को निशाना बनाया गया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पाक में मस्जिद पर हमले में 40 मरे, 83 घायल