class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गेहूं का उत्पादन 820 लाख टन होने की उम्मीद

गेहूं का उत्पादन 820 लाख टन होने की उम्मीद

खराब मानसून के बावजूद इस साल गेहूं का उत्पादन 820 लाख टन होने की उम्मीद है लेकिन धान का निर्धारित लक्ष्य हासिल कर पाना मुश्किल होगा।

कृषि मंत्री शरद पवार ने शुक्रवार को राज्यसभा में प्रश्नकाल के दौरान बताया कि इस साल उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश जैसे राज्यों में अधिक गेहूं उत्पादन होने की खबर है। पिछले साल गेहूं का 805 लाख टन उत्पादन हुआ था जो अब तक का सर्वाधिक उत्पादन था।

अन्नाद्रमुक के डा. के मलयस्वामी के पूरक प्रश्न के उत्तर में पवार ने बताया इस साल हम पिछले साल के रिकार्ड उत्पादन को पीछे छोड़ देंगे। उन्होंने बताया कि सरकार को इस साल गेहूं का 820 लाख टन उत्पादन होने की उम्मीद है। पवार ने कहा कि इस साल 56 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में धान की बुवाई नहीं हो पाने के कारण चावल का उत्पादन प्रभावित हो सकता है। उन्होंने कहा हम इस साल लक्ष्य हासिल नहीं कर सकेंगे। पिछले साल दालों का उत्पादन कम हुआ था लेकिन इस साल स्थिति में कुछ सुधार होने की संभावना है।

पवार ने बताया कि 26 राज्यों के 312 जिले सूखाग्रस्त घोषित किए गए हैं। कर्नाटक और आंध्रप्रदेश जैसे राज्यों में पिछले साल मानसून के अंतिम चरण में भारी बारिश होने और सूखे के कारण खरीफ की फसल प्रभावित हुई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गेहूं का उत्पादन 820 लाख टन होने की उम्मीद