class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब धोनी के धमाके ने बनाया भारत का रिकार्ड स्कोर

अब धोनी के धमाके ने बनाया भारत का रिकार्ड स्कोर

तीन तिहरे शतक जड़ने वाले दुनिया के पहले क्रिकेटर बनने से महज सात रन से चूके वीरेंद्र सहवाग और कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (नाबाद 100) की पारियों के दम पर भारत ने तीसरे और आखिरी क्रिकेट टेस्ट में अपना सर्वोच्च टेस्ट स्कोर बनाकर श्रीलंका पर 333 रन की पहली पारी की बढत बना ली।

सहवाग (293) के आउट होने के बाद भी श्रीलंकाई गेंदबाजों को कोई राहत नहीं मिली और भारत ने तीसरे दिन के आखिर में नौ विकेट पर 726 रन बनाकर पहली पारी घोषित की। दूसरे दिन गुरुवार को सहवाग के जलजले के बाद शुक्रवार को धोनी की बारी थी जिन्होंने तीसरा टेस्ट शतक जड़कर मैच पूरी तरह से भारत की गिरफ्त में ला दिया।
     
राहुल द्रविड़ (74), वीवीएस लक्ष्मण (62) और सचिन तेंदुलकर (53) ने भी उपयोगी पारियां खेली। भारत यह मैच जीत लेता है तो आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में नंबर वन पर पहुंच जायेगा।
     
श्रीलंका ने तीसरे दिन का खेल समाप्त होने तक बिना किसी नुकसान के 11 रन बना लिये थे। तिलकरत्ने दिलशान तीन और थरंगा परानविताना आठ रन बनाकर खेल रहे हैं । भारत के पास अभी भी 322 रन की बढत है।

भारत ने पहली पारी नौ विकेट पर 726 के स्कोर पर घोषित की जो उसका सर्वोच्च टेस्ट स्कोर है। इससे पहले आस्ट्रेलिया के खिलाफ 2004 में सिडनी टेस्ट में बनाये सात विकेट पर 705 रन उसका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन था। टेस्ट में दो दिन बाकी है और भारतीय टीम चौथे दिन से टर्न लेने वाली पिच का फायदा उठाते हुए जीत दर्ज करने की फिराक में होगी।

तीसरे दिन का खेल शुरू होने पर सभी की नजरें सहवाग पर थी लेकिन वह तिहरे शतक से सात रन से चूक गए। अपने गुरुवार के स्कोर 284 रन से आगे खेलते हुए सहवाग ने मुथैया मुरलीधरन को उन्हीं की गेंद पर कैच थमाया। सहवाग को इतिहास रचते देखने की चाह में सुबह ही से स्टेडियम में भारी तादाद में जमा हुए दर्शकों को इससे भारी निराशा हुई। सहवाग यदि तिहरा शतक जड़ देते तो तीन बार 300 रन बनाने वाले वह दुनिया के पहले बल्लेबाज होते। डान ब्रैडमेन और ब्रायन लारा भी दो बार तिहरे शतक बना चुके हैं।
     
सहवाग ने अपनी पारी में 254 गेंद का सामना किया और 40 चौके तथा सात छक्के जड़े। उन्होंने राहुल द्रविड़ के साथ दूसरे विकेट के लिये 264 गेंद में 237 रन जोड़े। द्रविड़ का विकेट भी लंच से पहले ही गिर गया था।

सहवाग के हाथों गुरुवार फजीहत क्षेलने वाले मुरली ने आज बदला चुकता करते हुए 22वें ओवर में पहला विकेट लिया। उस समय मेजबान टीम ने गुरुवार के स्कोर में 15 रन जोड़े थे। सहवाग ने शुक्रवार को सावधानी से खेलते हुए इक्के दुक्के रन बनाये और कोई जोखिम भरा शाट नहीं खेला। मुरली की गेंद पर दुविधा में दिखे सहवाग चूके और गलत शाट खेलकर उन्हें आसान रिटर्न कैच थमा दिया।

इससे पहले द्रविड़ स्पिनर रंगाना हेराथ की गेंद पर विकेट के पीछे लपके जाने की जोरदार अपील से बाल-बाल बचे। दो गेंद पर हेराथ को छक्का लगाने वाले द्रविड़ को वेलेगेदारा ने विकेटकीपर प्रसन्ना जयवर्धने के हाथों लपकवाया। द्रविड़ ने 147 गेंद की पारी में पांच चौके और एक छक्का लगाया।
     
तीन साल पहले इंग्लैंड के खिलाफ वानखेड़े स्टेडियम पर अपने घरेलू दर्शकों की हूटिंग का शिकार होने के बाद मुंबई में पहला टेस्ट खेल रहे तेंदुलकर का दर्शकों ने पूरे जोशोखरोश के साथ स्वागत किया। उन्होंने श्रीलंकाई स्पिनरों को चौके लगाकर शानदार शुरूआत भी की।

सहवाग और राहुल द्रविड़ (62) लंच से पहले ही आउट हो गए जबकि दूसरे सत्र में सचिन तेंदुलकर (53), वीवीएस लक्ष्मण (62), युवराज सिंह (23) और हरभजन सिंह ( एक) के विकेट गिरे। श्रीलंकाई टीम ने धोनी को छह के स्कोर पर जीवनदान दिया जब हेराथ की गेंद पर महेला जयवर्धने ने पहली स्लिप में उनका कैच छोड़ा। टीम इंडिया ने दोपहर के सत्र में 27 ओवर में 93 रन जोड़े जबकि गुरुवार पांच रन प्रति ओवर की औसत से रन बने थे।

लंच के बाद तेंदुलकर ने 88 गेंदों में 54वां अर्धशतक पूरा किया। वह नुवान कुलशेखरा का शिकार हुए। लक्ष्मण ने 129 गेंद में छह चौकों की मदद से 42वां अर्धशतक जमाया । मुरली ने उन्हें अपना दूसरा शिकार बनाया। वहीं हेराथ ने युवराज को पवेलियन भेजा जो शुरू ही से असहज नजर आ रहे थे। मुरली को रिवर्स स्वीप मारने के चक्कर में हरभजन आउट हुए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अब धोनी के धमाके ने बनाया भारत का रिकार्ड स्कोर