class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फुल मोड में राजश्री

फुल मोड में राजश्री

एक प्रतिभाशाली कलाकार चाह कर भी खुद को ज्यादा समय तक अभिनय से दूर नहीं रख सकता। यह बात टीवी की फेमस अभिनेत्री राजश्री ठाकुर के बारे में बिल्कुल फिट बैठती है। राजश्री स्टार प्लस के शो ‘सपना बाबुल का..बिदाई’ के माध्यम से एक बार फिर वापसी कर रही हैं। इस शो में उन्हें अभियोजन पक्ष की वकील की भूमिका के रूप में प्रस्तुत किया गया है और वे रणवीर के खिलाफ मुकदमा लड़ेंगी। शो में वह अमर उपाध्याय से बहस करती नजर आएंगी, जो बचाव पक्ष के वकील की भूमिका में हैं।

राजश्री के चरित्र में अनेक रंग हैं, क्योंकि वे एक मजबूत इच्छा शक्तिवाली महिला निष्ठा वासुदेव की भूमिका निभा रही हैं और वह 6 वर्षीय पुत्र की एकल अभिभावक हैं। उनका किरदार कुछ ऐसा है कि वह अपने पति से उनकी अति भौतिकतावादी प्रवृत्ति के कारण अलग हो चुकी हैं। अपने ईमानदार स्वभाव के कारण उन्होंने जीवन में काफी बलिदान दिया है। लेकिन इन तमाम विषम परिस्थितियों के बावजूद वह सत्य मार्ग से विमुख नहीं हुईं, भले ही इसके लिए उन्हें अपने व्यक्तिगत रिश्तों की तिलांजलि ही क्यों न देनी पड़ी हो। वे केस के शुरू होने के पहले अदालत से बाहर मामाजी (आलोक नाथ) से मिलती हैं। एक बार उनके विश्वविद्यालय में मामाजी व्याख्यान देने आये थे। उन्हें देखते ही वह तुरंत पहचान जाती हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:फुल मोड में राजश्री