अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीसीएसयू में दो हजार बीएड छात्रों के प्रवेश अवैध

07-08 सत्र में कानपुर विवि की अंतिम काउंसिलिंग के बाद अतिरिक्त सीटों पर हुए सीधे प्रवेश अवैध घोषित कर दिए गए हैं। कानपुर विवि के आदेशों पर सीसीएसयू ने कॉलेजों को पत्र भेजते हुए जांच शुरू कर दी है। आदेशों से जुलाई में हाईकोर्ट के आधार पर परीक्षा में शामिल हुए छात्र भी प्रभावित होंगे। इन छात्रों के प्रवेश भी निरस्त किए जाएंगे।

बीएड कॉलेजों में बैक डेट में मान्यता के खेल में छात्र भी पिसने लगे हैं। हजारों रुपये गंवाने के बाद 07-08 सत्र में सुप्रीम कोर्ट के आदेशों पर कानपुर विवि के निर्णय से मेरठ विवि के दो हजार छात्र फंस गए हैं। कानपुर विवि ने अंतिम काउंसिलिंग के बाद अतिरिक्त सीटों पर कॉलेजों द्वारा किए गए सीधे प्रवेश अवैध घोषित कर दिए हैं।

मेरठ विवि में करीब बीस कॉलेजों को अतिरिक्त सीटों की संबद्धता अंतिम काउंसिलिंग के बाद मिली थी और इन्होंने सीधे प्रवेश कर लिए थे। नए आदेश से इन कॉलेजों के दो हजार छात्रों के प्रवेश निरस्त किए जाएंगे। सीसीएसयू ने शासन से पत्र मिलने के बाद अतिरिक्त सीटों की संबद्धता पाए कॉलेजों की जांच शुरू कर दी है।

वहीं, जुलाई में विवि द्वारा हाईकोर्ट के आदेशों पर कराई गई 07-08 सत्र के छात्रों की परीक्षा भी संकट में फंस गई है। सूत्रों के अनुसार इस परीक्षा में करीब चार कॉलेजों के चार सौ छात्र अतिरिक्त सीटों पर प्रवेशित थे। ऐसे में शासन के इस आदेश से ये छात्र भी अवैध के दायरे में आएंगे। विवि ने इन छात्रों की जांच भी शुरू कर दी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सीसीएसयू में दो हजार बीएड छात्रों के प्रवेश अवैध