अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मिलों ने स्वयं कुल्हाड़ी मारी: डीसीओ

डीसीओ बीआर चौहान कहते हैं कि चीनी मिलों ने स्वयं अपने पैर पर कुल्हाड़ी मारी है। यदि मिलें समय पर गन्ने का भुगतान करतीं तो किसान भी इस फसल को उगाने में ज्यादा रूचि रखते।

इससे न तो चीनी के दाम बढ़ते, न ही किसानों को परेशानी होती। यदि चीनी मिलें चाहती हैं कि उन्हें फिर से पुरानी तरह गन्ना मिले तो उन्हें अपना रवैया सुधारना होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मिलों ने स्वयं कुल्हाड़ी मारी: डीसीओ