DA Image
12 अगस्त, 2020|7:58|IST

अगली स्टोरी

आठ ईएसआई डॉक्टरों को बैड इंट्री, गाजियाबाद में आवास आवंटन विवाद पर कार्रवाई

ईएसआई निदेशालय (श्रम चिकित्सा सेवा) के अपर निदेशक की ओर से आठ ईएसआई डॉक्टरों को बैड इंट्री देने पर विवाद खड़ा हो गया है। डॉक्टरों की मेडिकल सर्विसेज एसोसिएशन ने अपर निदेशक के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए प्रमुख सचिव से शिकायत कर तत्काल हस्तक्षेप की गुहार की है।

उन्होंने इस कार्रवाई को शासन के अधिकारों पर अतिक्रमण करार किया है और चेतावनी दी कि मामले का निपटारा न हुआ तो पूरे संवर्ग के डॉक्टर आंदोलन की राह पर चले जाएँगे।

अपर निदेशक डॉ. रावेन्द्र सिंह ने डा.अनिल कुमार जैन, डा. विमल त्यागी, डा.लोकेश कुमारी, डा.संजयबाबू, डा.मधु अग्रवाल, डा.गुंजन सचान, डा.इला गुप्ता और डा आरके अग्रवाल को बैड इंट्री दी है। इन सभी डॉक्टरों पर आरोप है कि उन्होंने साहिबाबाद, गाजियाबाद में आवास आंवटन को लेकर विवाद पैदा किया और जो स्पष्टीकरण निदेशालय से माँगा गया वह संतोषजनक नहीं था।

इसलिए इन सभी डॉक्टरों के खिलाफ सरकारी कर्मचारी आचरण नियमावली 56 के तहत मामला बनता है। इसीलिए उन्हें प्रतिकूल प्रविष्टि दी गयी। इसके खिलाफ यूपीईएसआई मेडिकल सर्विसेज एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. एमबी सिंह ने पूरे मामले को प्रमुख सचिव श्रम के सामने रखा है।

उन्होंने शासन को बताया है कि अपर निदेशक ने दुर्भावनावश डॉक्टरों को बैड इंट्री दी। जबकि डॉक्टरों को प्रतिकूल प्रविष्टि देने का अधिकार सिर्फ शासन को है। यही नहीं इस मामले में निदेशक की ओर से जाँच कराने के बाद समझौता भी करा दिया गया है। एसोसिएशन ने शासन से तुरन्त बैड इंट्री आदेश निरस्त करने और अपर निदेशक के खिलाफ कार्रवाई की माँग की है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:आठ ईएसआई डॉक्टरों को बैड इंट्री