अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आरएसएस ने भाजपा की स्थिति सुधारने के लिए कमर कसी

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने उत्तर प्रदेश में भाजपा की स्थिति को सुधारने के लिए कमर कस ली है। संघ के सह सरकार्यवाह सुरेश सोनी छह दिसम्बर को विश्व संवाद केन्द्र में आयोजित संघ परिवार की अवध प्रान्त समन्वय बैठक के जरिए भाजपा की गिरती दशा व उसे उबारने के उपायों पर मंथन करेंगे। बैठक में सरसंघचालक मोहन भागवत के अगले महीने लखनऊ के प्रस्तावित दौरे पर भी चर्चा होगी।

सूत्रों के अनुसार संघ चाहता है कि भाजपा प्रदेश सरकार के खिलाफ आक्रमक तेवर अपनाए। इसी वजह से अभी हाल में पार्टी ने कई कार्यक्रमों के निर्णय किए हैं लेकिन सबसे बड़ी समस्या पार्टी के  जनाधार को लेकर आ रही है। इसी वजह से बैठक में संघ परिवार के संगठनों के बीच समन्वय पर अधिक जोर दिया जाएगा। भाजपा की ओर से बैठक में प्रदेश अध्यक्ष डा. रमापतिराम त्रिपाठी, महामंत्री नागेन्द्र और राकेश जैन सहित कई प्रमुख पदाधिकारी भाग लेंगे। 

संघ की यह बैठक ऐसे समय हो रही है जब लिब्रहान आयोग की रिपोर्ट पर बहस तेज है। भाजपा में भी संगठनात्मक चुनाव चल रहे हैं। प्रदेश संगठन ने मायावती सरकार के खिलाफ चार्जशीट जारी करते हुए महँगाई समेत अन्य मुद्दों पर 4 और 5 दिसम्बर को धरना-प्रदर्शन के कार्यक्रम की घोषणा भी की है। इसी महीने यह भी तय होना है कि उत्तर प्रदेश में भाजपा की कमान बदलेगी या नहीं। 

श्री सोनी पाँच दिसम्बर को लखनऊ आ जाएँगे। वे छह की सुबह सरस्वती शिशु मन्दिर में गणवेशधारी स्वयंसेवकों को सम्बोधित करने के बाद विश्व संवाद केन्द्र में क्षेत्र प्रचारक अशोक बेरी के साथ संघ परिवार की समन्वय बैठक लेंगे। सूत्रों का कहना है कि समन्वय बैठक का एक महत्वपूर्ण बिन्दु सरसंघचालक मोहन भागवत का अगले महीने हो रहा लखनऊ दौरा भी है। संघ प्रमुख बनने के बाद श्री भागवत पहली बार 10 जनवरी को लखनऊ आ रहे हैं। इस मौके पर संघ भारी समागम चाहता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भाजपा के लिए आरएसएस ने कसी कमर