class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कृषि मंत्री ने केन्द्र को पत्र लिखा

कृषि मंत्री चौधरी लक्ष्मी नारायण ने केन्द्रीय रसायन एवं उर्वरक राज्य मंत्री श्रीकांत कुमार जेना को पत्र लिखकर प्रदेश में उर्वरक की उपलब्धता बनाए रखने का अनुरोध किया है। ताकि किसानों को उर्वरकों के कृत्रिम अभावों से अनावश्यक रूप से परेशान न होना पड़े। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार के समक्ष खाद का संकट केन्द्र द्वारा खाद की कम और धीमी गति से आपूर्ति के कारण हुआ है। इसलिए यदि किसानों का उर्वरक की कमी के कारण अहित होता है तो इसके लिए केन्द्र सरकार ही जिम्मेदार है।

अपने पत्र में श्री चौधरी ने कहा है कि केन्द्र द्वारा भेजे गए पत्र में प्रदेश के बारे में दिया गया आकलन सही नहीं है। उन्होंने कहा कि प्रदेश को डी.ए.पी. और एन.पी. के. के लगभग 123 रेक 15 नवम्बर के बाद भेजे गए हैं जबकि प्रदेश की लगभग 65 प्रतिशत बुवाई पूरी हो चुकी है। तीन नवम्बर, 2009 को केन्द्रीय मंत्रिमण्डलीय सचिव  ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए 5.50 लाख मीट्रिक टन की माँग को स्वीकार भी कर लिया था लेकिन अब इस माँग की सीमा को घटाकर केवल पाँच लाख मीट्रिक टन किया जाना उचित नहीं है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कृषि मंत्री ने केन्द्र को पत्र लिखा