अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्वाइन फ्लू प्रभावितों स्कूलों की संख्या 38 हुई

स्वाइन फ्लू का वायरस साइबर सिटी के स्कूलों की ओर तेजी से कदम बढ़ा रहा है। गुरुवार को शहर के दो अन्य अग्रणी स्कूलों के स्टूडेंट के स्वाइन फ्लू की गिरफ्त में आने की पुष्टि हुई। अब स्वाइन फ्लू प्रभावित स्कूलों की संख्या 36 से बढ़कर 38 हो गई है। जबकि गुरुवार को 15 स्टूडेंट की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद पीड़ितों की कुल संख्या 551 तक पहुंच गई है। इसके विपरीत स्वास्थ्य विभाग व स्कूल प्रबंधन इस महामारी को लेकर लापरवाह रवैया अपना रहे हैं।


गुड़गांव में स्वाइन फ्लू के दस्तक देने के समय गिने-चुने स्कूलों के बच्चाे ही इसकी चपेट में आए थे। लेकिन, स्वास्थ्य विभाग व विभिन्न स्कूल प्रबंधन के इस बीमारी को गंभीरता से न लेने का ही दुष्परिणाम है कि दिनोंदिन स्वाइन फ्लू प्रभावित स्कूलों की संख्या बढ़ रही है। गुरुवार को स्वाइन फ्लू के 16 नए मामले प्रकाश में आए। पीड़ितों में 15 स्कूली बच्चाे शामिल हैं। जबकि डीएलएफ निवासी एक 67 वर्षीय पुरुष इसकी चपेट में आया है। इस बार नए प्रभावित स्कूलों में डीएलएफ स्थित आधारशिला स्कूल व एक अन्य स्कूल के बच्चाे एच1एन1 इंफ्लुयंजा की चपेट में आए हैं। जबकि पाथवेज, शिक्षांतर, श्रीराम, स्काटिश हाई, डीपीएस, अमेटी इंटरनेशनल के स्टूडेंट भी शामिल हैं।

मात्र दवा देकर विभाग झाड़ रहा पल्ला
स्वास्थ्य विभाग स्वाइन फ्लू पीड़ितों को मात्र दवा देना ही अपनी जिम्मेदारी समझ रहा है। स्कूलों में स्वाइन फ्लू के मामले बढ़ने के बावजूद उन्हें कोई दिशा-निर्देश नहीं दिए जा रहे हैं। ऐसे में निजी स्कूल संचालक भी अपनी मनमानी कर रहे हैं। पीएमओ डॉ. खजान सिंह के अनुसार स्कूलों में बच्चाे समूह में रहते हैं। इस वजह से ही बच्चाे चपेट में आ रहे हैं।

स्वाइन फ्लू के मामलों का विवरण
कुल मामले  551
पीड़ित स्टूडेंट  350 से अधिक
प्रभावित स्कूल   38

पुष्टि का जरिया  संख्या
एनआईसीडी लैब    87
निजी लैब   464

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:स्वाइन फ्लू प्रभावितों स्कूलों की संख्या 38 हुई