class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीसीटीवी की नजर में रहेगा एक्सप्रेस-वे

कॉमनवेल्थ गेम्स से पहले एक्सप्रेस-वे के चप्पे-चप्पे पर कैमरे की नजर रहेगी। इसकी व्यवस्था नोएडा-ग्रेटर नोएडा मिल कर करेंगे। जिससे यहां से गुजरने वालों को सुरक्षा के साथ ही मार्ग पर परेशानी में फंसने पर राहत मिनटों में पहुंचाई जाएगी।


दिल्ली में खेलों के लिए होने वाले इंतजामों को देखते हुए अथॉरिटी ने भी तैयारी शुरू कर दी है। इसके लिए सबसे पहला टारगेट एक्सप्रेस-वे है। शहर की जद में आने वाले लगभग 19.8 किलोमीटर के दायरे को पर नजर रहेगी। अथॉरिटी सूत्रों का कहना है कि एक निर्धारित फासले पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे। वहीं प्रवेश और निकास प्वाईंट्स में भी कैमरे लगाए जाएंगे।

जिनको एक मेन सर्वर से कनेक्ट कर दिया जाएगा। जिससे यहां से गुजरने वाले हर वाहन पर नजर रहेगी। तेज रफ्तार की दौड़ में होने वाले हादसे में घायल होने पर मिनटों में सहायता दी जा सकेगी। इसके लिए चार एंबुलेंस भी तैनात की जाएंगी। जिसमें से दो प्रवेश द्वार पर और दो जद खत्म होने के प्वाईंट पर। इनमें से एक एंबुलेंस कांबिंग करेगी। इनको कंट्रोल रूम से जोड़ा जाएगा। गाड़ी खराब होने या किसी और कारण से रुकने पर परेशान होने की जरूरत नहीं है। इसके लिए दो क्रेन यहां लगाई जाएंगी। वहीं लोगों को सुरक्षित सफर का आनंद देने के लिए पेट्रोलिंग की भी सुविधा में इजाफा किया जाएगा। सूत्रों ने बताया कि मौजूदा समय में हो रही पेट्रोलिंग को दोगुना किया जाएगा। यहां तैनात सभी गाड़ियों को कंट्रोल रूम से जोड़ने के साथ ही जीपीएस सिस्टम से जोड़ दिया जाएगा। जिससे इनकी लोकेशन का सही पता चले। इस प्रोजेक्ट को सीईओ के जापान से लौटने का इंतजार है। सूत्रों का कहना है कि अथॉरिटी,प्रशासन और पुलिस की मीटिंग के बाद इसको अमलीजामा पहनाया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सीसीटीवी की नजर में रहेगा एक्सप्रेस-वे