class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रिहंद विद्युतगृह के दो आपरेटरों की मौत, आश्रितों को नौकरी व जांच की मांग पर अड़े कर्मी

एनटीपीसी रिहंद के दो कर्मचारियों की बुधवार की रात ड्यूटी के दौरान संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। दोनों रात्रि पाली की ड्यूटी में सीएचपी के ट्रैकहापर आपरेटर केबिन में अचेत पाये गये और अस्पताल ले जाने पर डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

डय़ूटी पर आपरेटरों की मौत से परियोजना में हड़कम्प मच गया तथा तमाम यूनियनों के पदाधिकारियों ने मामले की उच्चस्तरीय जांच एवं मृतक के आश्रितों को नौकरी देने की मांग करते हुए शवों को काफी समय तक पोस्टमार्टम के लिए नहीं ले जाने दिया।

एनटीपीसी रिहंद के आपरेटर रामपुकार साहू एवं जयकिशोर भुइयां सीएचपी पर रात की पाली की ड्यूटी के लिए गये थे। गुरुवार को तड़के सीएचपी ट्रैकहापर के आपरेटर केबिन में दोनों बेहोशी की हालत में पाये गये। उन्हें तत्काल धन्वन्तरि चिकित्सालय ले जाया गया जहां सुबह 6:40 बजे रामपुकार साहू और 7:30 पर जयकिशोर भुइयां को डाक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

डाक्टर भी दोनों की मौत की वजह बताने में नाकाम रहे, लेकिन यूनियन नेताओं ने आपरेटर केबिन में धुएं से दम घुटने से मौत होने की आशंका व्यक्त की है। दो मौतों की खबर फैलते ही सीटू, एटक, इंटक, विद्युत ऊर्जा श्रमिक संघ, ऊर्जाचल श्रमिक संगठन, रिहंद कर्मचारी संघ एवं विस्थापित मोर्चा के पदाधिकारी मौके पर पहुंच गये और मृतकों के आश्रितों को नौकरी देने तथा मुआवजे की मांग को लेकर शवों को पोस्टमार्टम के लिए ले जाने से पुलिस को रोक दिया।

देर शाम तक इस मुद्दे पर यूनियन नेताओं व प्रबंधन के बीच जिच जारी थी। क्षेत्रधिकारी दुद्धी ने कहा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट मिलने पर ही मौत के कारणों के बारे में कुछ कहा जा सकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रिहंद विद्युतगृह के दो आपरेटरों की मौत