DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भोजन की मंहगाई थामना जरूरी : रंगराजन

भोजन की मंहगाई थामना जरूरी : रंगराजन

प्रधानमंत्री की आर्थिक सलाहकार परिषद ने खादय जिन्सों की मंहगाई की रफ्तार पर लगाम लगाने की जरूरत पर बल देते हुए आज कहा कि ऐसा न होने पर कारखाना क्षेत्र के उत्पाद मंहगे होने लगेंगे।
   

प्रधानमंत्री की आर्थिक सलाहकार परिषद के चेयरमैन सी रंगराजन ने कहा, खाद्य वस्तुओं पर आधारित मुद्रास्फीति को निश्चित रूप से कम किया जाना चाहिए। ऐसा नहीं होने पर कारखाना क्षेत्र की वस्तुएं महंगी होने लगेंगी। उन्होंने कहा कि इसके लिये रिजर्व बैंक की ओर से मुद्रा आपूर्ति को प्रभावित करने वाले कदम उठाने की जरूरत होगी। रंगराजन ने कहा, मुद्रास्फीति विशेष कर खादय वस्तुओं पर आधारित महंगाई दर चिंता का विषय है।
  

उल्लेखनीय है कि खाद्य वस्तुओं पर आधारित महंगाई दर नवंबर के तीसरे सप्ताह में बढ़कर 17. 47 फीसद हो गयी जो इससे पूर्व सप्ताह में 15.58 फीसद थी। उन्होंने कहा कि अब भी परिषद का मानना है कि समग्र मुद्रास्फीति वित्त वर्ष के अंत तक 6.0 से 6.5 फीसद के दायरे में ही रहेगी, पर इस पर अंकुश लगाने की जरूरत है। अक्टूबर माह में समग्र वस्तुओं पर आधारित मुद्रास्फीति 1.34 फीसद थी, जबकि इससे पूर्व माह में यह 0. 50 फीसद के स्तर पर थी। समग्र वस्तुओं के थोक मूल्य  सूचकांक में खादय वस्तुओं का अनुपात अपेक्षाकृत कम होने के कारण उस पर आधारित मुद्रास्फीति कम दिख रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भोजन की मंहगाई थामना जरूरी : रंगराजन